What is SWP in Mutual Fund in Hindi 2021 | Mutual Fund SWP kya hai?

by Rahul Gupta
10 mins read
What is SWP in Mutual Fund in Hindi

What is SWP in Mutual Fund in Hindi 2021 | Mutual Fund SWP kya hai?

SWP in Mutual Fund in Hindi/सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान/Systematic Withdrawal Plan (SWP) – अक्सर ऐसा देखा गया है कि यदि निवेशक यह चाहते हैं कि उनके निवेश पर उन्हें नियमित रूप से रिटर्न या इंट्रेस्ट मिलता रहे तो उनका सबसे पहला विकल्प फिक्स्ट डिपॉज़िट (Fixed Deposit) या पोस्टल डिपॉज़िट (Postal Deposit) होता है। परंतु, इन योजनाओं के घटते व्याज दरो ने निवेशकों को उनके भविष्य की आय और उनके आवश्यक ज़रूरतों की पूर्ति के लिए थोड़ा चिंतित कर दिया है।

कुछ निवेशक लम-सम (एकमुश्त) निवेश करना पसंद करते हैं, और कुछ ऐसे होते हैं जो सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (Systematic Investment Plan, SIP) के तहत अपना निवेश करना पसंद करते हैं। यह भी देखा जाता है कि कुछ निवेशक पूंजी को बढ़ाना चाहते हैं, तो वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो अपने निवेश से नियमित आय करना चाहते हैं। बहुत सारे फंड हाउस हैं  जिन्होंने अपने ग्राहकों के लिए ऐसे टूल्स व तरीको की सुविधा उपलब्ध कराई है जो विभिन्न प्रकार के निवेशकों की अपेक्षाओं को पूरा करने में सक्षम हो। ऐसा ही एक टूल या तरीका है सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान (Systematic Withdrawal Plan (SWP)। इस आर्टिकल हम SWP को और इससे जुड़े कुछ ऐसे महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बात करेंगे जो आपको SWP के बारे में जानना आवश्यक है।

Table of Contents

एसडब्लूपी का फुल फॉर्म (SWP Full Form/SWP Meaning)

एसडब्लूपी या SWP का फुल फॉर्म या मतलब है  सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान या Systematic Withdrawal Plan.

सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान क्या है? (What is Systematic Withdrawal Plan?)

एक सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान वह योजना होती है जो निवेशक को फ़ेज वाइज उनके म्यूचूअल फंड निवेश से रेडीम करने की सुविधा देती है। लम-सम (एकमुश्त) विड्रावल के विपरीत सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान निवेशक को किश्तों में पैसे निकालने में सक्षम बनाती है। यह सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) से भी एकदम विपरीत कार्य करती है।

एक SIP में निवेशक अपने बैंक अकाउंट के बचत पैसे को म्यूचूअल फंड योजनाओं ने लगाते हैं, जबकि SWP में, आप अपने म्यूचूअल फंड प्लान से अपने निवेश को बचत बैंक खाते में निर्देशित करते हैं मतलब की एक निश्चित समय पर म्यूच्यूअल फंड स्कीम से पैसे रिडीम करके अपने सेविंग अकाउंट में निकालते हो।

सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान आपको आपकी आवश्यकताओं के अनुकूल आपके नगद प्रवाह को व्यवस्थित करने की सुविधा देती है। यह योजना आपको यह निर्णय करने का भी अवसर देती कि आप अपने मूल धन पर कमाया हुआ केवल ब्याज निकालना चाहते है, या फिर कोई निश्चित धन राशि। इस सुविधा का अर्थ यह है कि इस तरह आपके पैसे ना ही सिर्फ़ किसी योजना में निवेशित रहेंगे, बल्कि आप उस निवेश से आने वाले रिटर्नस का लाभ उठाने में भी सक्षम रहेंगे। इसके साथ ही साथ आप अपने पिछले निवेश से आने वाले आय को फिर से किसी और योजना में निवेशित कर सकते हैं या उसे नगद के रूप में रख सकते है जो आपके किसी मुश्किल समय में सहायता करे।

SWP के बारे में जानने योग्य कुछ दिलचस्प बातें (Interesting Things to know about SWP)

  • आप SWP योजना को साप्ताहिक, 15 दिन के लिए, एक महीने के लिए या तीन महीने के लिए भी स्थापित कर सकते हैं।
  • SWP के द्वारा निकाले गए पैसे किसी और योजना में निवेश किए जा सकते हैं।
  • ग्राहक अपने SWP को कभी भी रद्द कर सकते हैं या उनमें बदलाव कर सकते हैं।
  • निकास लोड (Exit Load) के अलावा SWP के लिए कोई एक्स्ट्रा चार्ज नहीं लिया जाता है।
  • आपके ग्राहक के पास फंड में एक न्यूनतम राशि का रहना अनिवार्य है।

एक सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान कैसे काम करता है? (How Does a Systematic Withdrawal Plan Works?)

How SWP Works – निवेशकों के लिए यह जानना बहुत ही आवश्यक है कि SWP किसी बैंक में एक फ़िक्स्ट डिपॉज़िट अकाउंट खोलने जैसा नहीं है जहां उन्हें हर महीने एक निश्चित राशि व्याज के रूप में मिलती है। बल्कि एक सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान (SWP) चुनने पर यह निवेशक के म्यूचूअल फंड अकाउंट पर भी असर डालती है।

जब आप एक फ़िक्स्ट डिपॉज़िट में से अपनी व्याज राशि निकलते हैं तो यह आपके कॉर्पस वैल्यू (Corpus Value) को प्रभावित नहीं करता है, परंतु जब आप म्यूचूअल फंड स्कीम के सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान से कुछ विड्राव करते हैं तो आपका फंड उससे प्रभावित होता है और आपके फंड की वैल्यू को कम कर दिया जाता है। फंड की वैल्यू कम होने का दूसरा कारण यह भी हो सकता है कि आपने निवेश की हुई अपनी पूँजी तब निकल ली हो जब आपके निवेश ने कोई लाभ नहीं कमाया हो।

उदाहरण:

कल्पना कीजिए कि आपके म्यूचूअल फंड स्कीम में 8000 यूनिट्स है और आप SWP के माध्यम से हर महीने 5000 रुपए निकालना चाहते हैं। अब यह सोचिए कि स्कीम की नेट ऐसेट वैल्यू (Net Asset Value) 10 रुपए हैं और स्कीम में से 5000 रुपए के विड्रावल का अर्थ है कि अपने 500 यूनिट्स बेच दिए, जो कि 10 रुपए NAV के हिसाब से 5000 रुपए होते हैं। अतः आपके विड्रावल के बाद अब आपके म्यूचूअल फंड में 7500 यूनिट्स शेष होंगे (8000-500)।

मान लीजिए, अगले महीने के शुरुआत से यदि आपकी योजना का NAV मूल्य बढ़कर 20 रुपए हो जाए, तो 5000 रुपए निकालने का मतलब 250 यूनिट्स को बेचना होगा। जिसका अर्थ है 5000 रुपए या 250 यूनिट्स जहाँ यूनिट 20 रुपए NAV के हिसाब से। अर्थात् 5000 रुपए निकालने के बाद आपके म्यूचूअल फंड में 7250 यूनिट्स शेष बच जाएँगें (7500-250)। इसका अर्थ यह है कि हर एक निकासी के बाद आप अपने म्यूचूअल फंड की इकाइयों में गिरावट देख सकते हैं।

यदि आपकी NAV का मूल्य अधिक है तो आप अपनी नगद की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कम यूनिट्स को निकल सकते हैं, इसके ठीक विपरीत अगर NAV के मूल्य में गिरावट आयी तो आपको अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अधिक यूनिट निकालने होंगे। यहाँ इस बात का ध्यान रखना आवश्यक है कि अगर आप इस योजना से अधिकतम लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको अपने लक्ष्य और ज़रूरतों के अनुसार SWP की अच्छी प्लानिंग करनी चाहिए। इसका कारण यह है कि यदि आप अनियोजित विड्रावल करते हैं तो यह आपके म्यूचूअल फंड के मूल्य पर हानिकारक प्रभाव डाल सकता है।

ये भी पढ़े – जाने और तुलना करे  SIP, STP और SWP में

मुझे एक सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान की अवशयकता क्यों है? (Why do I need a Systematic Withdrawal Plan?)

आपको यह अवश्य पता होगा कि मार्केट फ़्लक्चूएशन का सीधा प्रभाव आपके म्यूचूअल फंड के निवेश पर पड़ता है, अर्थात् कोई भी उतार-चढ़ाव या बदलाव आपके फंड के NAV को बुरी तरह से प्रभावित कर सकते हैं। खासकर, जब कोई व्यक्ति आपके लक्ष्य के बहुत करीब होता है और परंतु उसने किसी कारण से फंड को निकाला नहीं, तो इसका उसके रिटर्न पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

यहीं SWP आपकी मदद करता है, इसकी मदद से आप अपनी फ़ायनैन्शल ज़रूरतों के अनुसार अपने विड्रावल का समय निर्धारित कर सकते हैं। SWP का लाभ यह है कि यदि आपको चरणबद्ध रूप से धन की आवश्यता हो तो SWP का विकल्प आपके लिए सबसे सही है, यह आपको समय पर धन की उपलब्धता सुनिश्चित करता है। इस प्रकार आपको आपके लक्ष्य की प्राप्ति में कोई विलम्ब नहीं होगा और यह आपके नगद की असुविधा का भी समाधान करेगा।

एक SWP की योजना उन निवेशकों की भी मदद करता है जो अपने वेतन के अलावा आय के दूसरे विकल्प की भी चाह रखते हैं। इस योजना के तहत, आप एक निवेशक की भाँति अपने लिए निवेश से आय का एक नियमित स्रोत बना सकते हैं। यदि आप अपनी यात्रा या अन्य ज़रूरतों के लिए समय-समय पर आय प्राप्त करना चाहते हैं, तो उन्हें पूरा करने का यह एक उत्तम तरीका है।

सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान निवेश का एक अच्छा विकल्प क्यों है? (Why Is the Systematic Withdrawal Plan a Good Investment Option?)

सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान निवेश का एक अच्छा विकल्प है उसके हम दो प्रमुख कारण देख सकते हैं।

पहला कारण है आसान विड्रावल, जो कि एक प्रकार से रिडिम्प्शन ही है, स्रोत (Source) टैक्स डिडक्शन (Tax Deduction at Source (TDS) के अधिन नहीं आता है।

दूसरा कारण यह है कि आप अपने विड्रावल के विकल्प को इस प्रकार निश्चित कर सकते हैं कि आप केवल अपने निवेश पर आने वाले लाभ को निकल सके। इस प्रकार आपकी पूँजी निवेशित रहती है और साथ ही आप समय-समय पर आने वाले रिटर्न का लाभ भी उठा सकते हैं।

निकास का विकल्प (The Withdrawal Options)

एक निश्चित विड्रावल विकल्प के साथ, आप अपने निवेश से एक निश्चित राशि मासिक, त्रैमासिक, वार्षिक या द्विवार्षिक के अंतराल पर निकल सकते हैं। वहीं अप्रीशीएशन विड्रावल (Appreciation Withdrawal) विकल्प के साथ, आप एक निश्चित अंतराल पर केवल अप्रीशीएशन राशि (राशि जो निवेश के दौरान प्राप्त की गई हो) ही निकल सकते हैं।

सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान के लाभ (Benefits of a Systematic Withdrawal Plan)

बहुत से लोग ये प्रश्न पूछते है कि क्या SWP एक अच्छा विकल्प है? (Is SWP a good option?), तो आप सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान के लाभ देखें और खुद ही समझ जायेंगे की SWP एक अच्छा विकल्प है, लाभ निम्नलिखित हैं-

टैक्स लाभ (Tax Benefits)

अगर एक निवेशक की भाँति, आप अपने निवेश से एक नियमित कमाई करना चाहते हैं, तो आप किसी योजना का डिवीडेंड ऑप्शन Dividend Option) या SWP चुन सकते हैं। जब एक फंड हाउस डिवीडेंड वितरित करता है, तब वह स्त्रोत पर डिवीडेंड डिस्ट्रिब्यूशन टैक्स (Dividend Distribution Tax (DDT) काट लेता है। इस DDT की दर 10% होती है। और जब आप डिवीडेंड प्राप्त कर लेते हैं तो आपको उसपर कोई कर (Tax) देने की आवश्यकता नहीं होती है।

वहीं दूसरी ओर अगर आप SWP चुनते हैं, तो स्त्रोत पर किसी प्रकार का कर नहीं काटा जाता है। हालाँकि, SWP के विकल्प में पूँजीलाभ पर विड्रावल के अनुसार और योजना के प्रकार के अनुसार कर (Tax) लगाया जाता है। विभिन्न प्रकार के म्यूचूअल फंड के लिए लगने वाले पूँजीगत लाभ को नीचे देख सकते हैं:

म्यूच्यूअल फंड प्रकार
Type of Mutual Fund
शॉर्ट-टर्म कैपिटल गेन टैक्स
Short Term Capital Gain Tax
लोंग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स
Long Term Capital Gain Tax
इक्विटी म्यूच्यूअल फंड/Equity Mutual Fund 15% 10% बिना इंडेक्ससेसन के
बैलन्स्ड म्यूचूअल फंड/ Balanced Mutual Fund 15% 10% बिना इंडेक्ससेसन के
डेट म्यूचूअल फंड/ Debt Mutual Fund टैक्स स्लैब के आधार पर 20% इंडेक्ससेसन के बाद

रूपी कोस्ट ऐव्रेजिंग (Rupee Cost Averaging)

चाहे आप यूनिट्स को किश्तों में खरीदे या रिडीम करें, आपको रूपी कोस्ट ऐव्रेजिंग का लाभ मिलता है। चूँकि मार्केट परिवर्तनशील होता है, इसलिए जब आप अपने सारे यूनिट्स को एक साथ रिडीम करे तो बिक्री का समय तब होना चाहिए जब मार्केट अच्छा प्रदर्शन कर रहा हो, यह आपके लिए अच्छा मुनाफ़ा सुनिश्चित करता है। परंतु अगर आप मंदी के समय अपने यूनिट्स रिडीम करेंगे तो उससे आपका मुनाफ़ा प्रभावित हो सकता है।

जब आप SWP का विकल्प चुनते हैं, तो आपके द्वारा एक निश्चित संख्या में यूनिट्स को नियमित रूप से भुनाया जा सकता है। इसलिए, इस अवस्था में रिडीमप्सन की तारीख पर कभी बाजार ऊपर हो सकता है और कभी नीचे जा सकता है। जब आपके रिडीमप्सन के समय बाज़ार ऊपर होगा तो आपको उस समय की तुलना में कम यूनिट्स भुनाना पड़ेगा जब बाज़ार नीचे हो। SWP के इस स्वरूप के कारण यह आपके रिटर्न को औसत करता है और आपको सम्भावित नुकसान से बचाता है, जो स्थिति उस समय उत्पन्न हो सकती है जब आप अपने यूनिट्स को मंदी के समय रिडीम करेंगे।

बुल रन में आदर्श (Ideal in a Bull Run)

अधिकांश निवेश बाज़ार में तेज़ी (Bull Run) के समय उच्च रिटर्न देते हैं, यदि आपने SWP का विकल्प चुना है और आपका वार्षिक विड्रावल आपकी योजना के कुल कमाए गए रिटर्न से कम है तब आपका निवेश बीयर मार्केट (Bear Market) की तुलना में ज़्यादा समय के लिए टिका रहेगा। इसके साथ ही, आप बुलिश फेज (Bullish Phase) में कमाए गए पैसों को वापस लेकर उसेका फिर से निवेश कर सकते हैं।

निवेश अनुशासन (Investment Discipline)

जैसे SIP, एक निवेशक को निवेश से सम्बंधित अनुशासित दृष्टिकोण सीखने में मदद करता है, वैसे ही SWP आपको गलत समय में (जब बाजार में सुधार आता है) घबरा कर बड़ी मात्रा में पैसे निकालने से बचने में मदद करता है।

SWP का प्रभावी उपयोग (Effective uses of an SWP)

नीचे हम आपको SWP के कुछ प्रभावी उपयोग बताएँगे:

  • द्वितीय आय का एक नियमित स्त्रोत बनाना: आज के इस महंगाई के समय में एक संतोषजनक जीवन-यापन करने के लिए आय का एक दूसरा स्त्रोत होना भी अनिवार्य हो गया है। म्यूचूअल फंड में निवेश और SWP के द्वारा विड्रावल करना द्वितीय आय का एक उंदा माध्यम है।
  • अपनी खुद की पेन्शन बनाना: चाहे आपके पास कोई पेन्शन प्लान हो या ना हो, आप अपने रेटायअर्मेंट (Retirement) से ५ साल पहले से एक संग्रह तैयार कर सकते हैं और उससे अपनी क्षमता के अनुसार अपने भविष्य के लिए म्यूचूअल फंड में निवेश कर सकते हैं। और जब आप रेटायअर (Retire) हो जाए, SWP स्टार्ट करके अपनी खुद की पेन्शन का आय कर सकते हैं।
  • पूँजी की रक्षा (Protect your Capital): यदि आप निवेश या म्यूचूअल फंड के सम्बंध में कम जानकारी के कारण निवेश से सम्बंधित कोई भी जोखिम नहीं उठाना चाहते, तो आप शुरुआत में आर्बिट्राज़ (Arbitrage) म्यूचूअल फंड योजना में निवेश कर सकते हैं। यह योजना आपको शून्य जोखिम के साथ निश्चित रिटर्न प्रदान करती है। या फिर आप डिवीडेंड का विकल्प चुन कर SIP के माध्यम से डिवीडेंड का निवेश डेट (Debt) योजना में कर सकते हैं, उसके बाद आप एक SWP शुरू कर सकते हैं तथा अपनी पूँजी को जोखिम में डाले बिना नियमित आय का लाभ उठा सकते हैं।

टैक्सेसन के बारे में सचेत रहे (Be Mindful of Taxation)

जैसे कि हर एक SIP को एक अलग निवेश के रूप में देखा जाता है, वैसे ही प्रत्येक SWP भी एक अलग रिडीमप्सन की योजना के रूप में देख सकते है, इसलिए इन दोनों के लिए टैक्स योजना में भी अंतर होता है। उदाहरण के लिए –

2 साल से निवेशित डेट फंड में शुरू किए SWP से होने वाले किसी भी पूँजीगत लाभ/capital gain को शॉर्ट-टर्म कैपिटल गेन माना जाता है। हालाँकि, अगर कोई भी SWP 1 से 3 साल से अधिक जारी रहती है, तो उस में से मिले हुए धन को लोंग-टर्म कैपिटल गेन जैसा माना जाएगा। अतः आपको प्रत्येक विड्रवल के लिए पूंजीगत लाभ कर की स्थिति के बारे में पता होना चाहिए।

कितना विड्रवल करना चाहिए (How much to Withdraw)

यह मुमकिन है कि आपके पास एक बड़ी धनराशि कोष का संचय हो, परंतु यह सोचने योग्य बात है कि आपके SWP में निकाली गयी राशि कितनी हो? आदर्श रूप से आपको निवेश पर मिलने वाले आय से अधिक का विड्रावल नहीं करना चाहिए, और अगर आप हर महीने इतना निकाल रहे है जितने की आप उस योजना के माध्यम से आय नहीं कर सकते, तो अधिक सम्भावना यह है की आपका कोष बढ़ने के विपरीत तेज़ी से घटने लगेगा।

यहाँ यह भी सम्भावना है कि आप यह सोचें की आपका SWP आपको समान दर से आय उपलब्ध कराएगा, तो कुछ समय के बाद आप अपने पूँजी की निकासी करके उसमें कमी ला सकते हैं। क्योंकि इक्वटी म्यूचूअल फंड बाज़ार से सम्बंधित निवेश है और उस पर रिटर्न निश्चित ना होकर हमेशा काल्पनिक या सम्भावित होता है, जो सामान राशि के विड्रावल के कारण पूँजी को क्षति पहुँचाती है।

इसलिए पहला सुझाव बहुत महत्वपूर्ण है। विशेषतः इक्वटी म्यूचूअल फंड योजना में ग्रोथ नोनलिनीर (Non-Linear) होती है, किसी वर्ष आप भारी रिटर्न कमा सकते हैं और दूसरे वर्ष आपको नुकसान हो सकता है, यह इस योजना की प्रवृति है। अगर आपने बहुत सारा लाभ अर्जित कर लिया है तो आपको उस समय अपने SWP को बंद करने की आवश्यकत नहीं है जिस वर्ष आपकी इक्वटी योजना का रिटर्न अच्छा ना हो। और वही दूसरी ओर आपको यह ध्यान रखना भी जरूरी है कि आप अपने विड्रावल की सीमा ना बढ़ाए जब आपने असाधारण लाभ अर्जित किया हो।

अपनी पूँजी को क्षति से बचाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप अपने वार्षिक रिटर्न के औसत का अनुमान लगा ले और उसे 12 बराबर भागो में बाँट दे तथा अपने मासिक SWP को उस औसत राशि से 20% से कम पर निर्धारित करे। यहाँ आप अपने विशिष्ट आवश्यकताओं के अनुसार इसे 10% से 30% तक कम भी कर सकते हैं। यदि आप एक नियमित आय का स्त्रोत बनाना चाहते हैं तो SWP की सुविधा का लाभ उठना एक अच्छा विकल्प है, परंतु ऊपर उल्लेखित सभी करको को ध्यान में रखें अन्यथा एक निवेशक के रूप में आपको लाभ से अधिक नुकसान पहुँचा सकता है।

सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

प्रश्न –  क्या मै अपने ऑनलाइन SWP को कैन्सल या मॉडिफ़ाई (Cancel or Modify) कर सकता हूँ? यदि हाँ तो कैसे?

उत्तर: जी हाँ, आप अपने ऑनलाइन SWP को कैन्सल या मॉडिफ़ाई कर सकते है।

प्रश्न – SWP कब सक्रिय होता है?

उत्तर: SWP से सम्बंधित निर्देश का रेजिस्ट्रार के पास रेजिस्ट्रेशन के लिए 10 व्यावसायिक दिन लगते है। और रेजिस्ट्रेशन के बाद ही आप पहला विड्रावल कर सकते हैं।

प्रश्न – क्या SWP शुरू करने के लिए मझे योजना में न्यूनतम शेष राशि रखना आवश्यक है?

उत्तर: जी हाँ, SWP शुरू करने के लिए आपको अपनी पसंदीदा योजना में न्यूनतम 5000 रुपए शेष राशि रखना आवश्यक है।

प्रश्न – SWP की ख़रीद के मामले में एग्ज़िट लोड (Exit Load) कैसे चार्ज किया जाता है?

उत्तर: आपकी योजना की प्रवृति के अनुसार उपयुक्त एग्ज़िट लोड आपसे विड्रावल के समय चार्ज किया जाता है।

प्रश्न – क्या SWP टैक्सेबल है? Is SWP taxable?

उत्तर: जी हाँ SWP टैक्सेबल है, ऊपर आप इस बारे में या नीचे के प्रश्न में आप इसका उत्तर विस्तृत रूप से जान पाएंगे।

प्रश्न – SWP में टैक्सेसन से संबंधित प्रावधान क्या है?

उत्तर: सिस्टेमैटिक विड्रावल प्लान (SWP) के माध्यम से रिडेम्पशन में टैक्ससेसन एक बहुत ही अहम भूमिका निभाती है। डेट फंड के मामले में, यदि निवेशक की होल्डिंग अवधि 3 वर्ष से कम है तो निवेशक द्वारा निकाली गई राशि, निवेशक की आय का एक हिस्सा होगी। उसके बाद निवेशक के आय की स्लैब के अनुसार टैक्स लगना शुरू होता है।

दूसरी तरफ, अगर होल्डिंग अवधि 3 वर्ष से ज़्यादा हो तो लोंग-टर्म पूँजी आय पर इंडेक्सेसन के 20% का टैक्स लगाया जाता है।

एक्वटी फंड (Equity fund) के मामले, अगर निवेशक की होल्डिंग अवधि 1 वर्ष से कम है तो रिडेम्पशन की राशि पर 15% का कर लगता है। वहीं अगर होल्डिंग अवधि 1 वर्ष से ज़्यादा है तो लोंग-टर्म पूँजी आय पर बिना इंडेक्सेसन के 10% का टैक्स लगाया जाता है। एक ओपन-एंडेड फंड (Open-Ended Fund) निवेशक को अपना निवेश वापस लेने या उसे संसोधित करने का विकल्प देता है।

आज हमने पढ़ा कि SWP in Mutual Fund को हिंदी में भली भांति समझा हम आगे भी म्यूच्यूअल फंड से सम्बंधित ऐसे और भी रोचक टॉपिक आपके लिए लाते रहेंगे । आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमे बताएं। हमे आपके सुझाव एवं कमेंट्स का इंतज़ार रहेगा। बने रहिये apneebachat.com पर।

You may also like

Leave a Comment