What is Index Funds in Hindi 2021 | Index Fund Kya Hai?

by Rahul Gupta
9 mins read
What is Index Funds in Hindi 2021 Index Fund Kya Hai

What is Index Funds in Hindi 2021 | Index Fund Kya Hai?

What is Index Funds in Hindi 2021, Index Fund Kya Hai? – इंडेक्स फंड (Index Fund) विश्व के सबसे बड़े म्यूचूअल फंड योजनाएँ हैं। हालाँकि, ज़्यादातर भारतीय निवेशक या तो इस प्रकार के म्यूचूअल फंड योजना से अनजान हैं, और यदि जानते भी हैं तो वे ऐक्टिव्ली मैनेज्ड फंड (Actively Managed Fund) में निवेश केरना पसंद करते हैं। फिर भी पीछले कुछ वर्षों में इस प्रकार के रवैए में बदलाव देखा गया है, परंतु अब भी भारत में इंडेक्स फंड का मार्केट शेयर बहुत कम है और यह अब भी बहुत छोटी श्रेणी है।

इंडेक्स फंड वे म्यूचूअल फंड हैं जिनका पॉर्ट्फ़ोलीओ (Portfolio) कुछ ऐसा बनाया जाता है जिससे वह मार्किट के इंडेक्स से मैच या मेल खाए। जब इस म्यूचूअल फंड को इंडेक्स के हिसाब से डिजाईन किया जाता है तो इससे मिलने वाला रिटर्न भी बाज़ार के बेंच्मार्क से मैच/मेल खाता है।

इन म्यूचूअल फंड्स का पॉर्ट्फ़ोलीओ टर्नोवर (Portfolio Turnover) बहुत कम होता है, इनका मार्किट एक्सपोज़र (बाजार फैलाव) ज्यादा होता है और एक्सपेंस रेश्यो कम होता है। ये म्यूचूअल फंड बेंच्मार्क के पॉर्ट्फ़ोलीओ की नक़ल करते हैं और यही कारण है कि इन्हें पैसिव फंड (Passive Fund) के रूप में भी जाना जाता है। यहाँ यह भी जानना बहुत ज़रूरी है कि ये फ़ंड्ज़ उन निवेशकों के लिए बेहतर है जो कम से कम १० वर्ष के लम्बे समय के लिए निवेश करना चाहते हैं, और ये खासकर उनके लिए जो हमेशा अपने पॉर्ट्फ़ोलीओ की निगरानी नहीं रख पाते हैं।

इंडेक्स फंड क्या है (What are Index Fund Mutual Fund?)

What are Index Funds – इंडेक्स फंड एक प्रकार का म्यूचूअल फंड है जो स्टॉक मार्केट के इंडेक्स की नकल करता है। ये म्यूचूअल फंड स्टॉक मार्केट के एक बेंच्मार्क को दोहराते हैं और वैसे ही सिक्योरिटीज (Securities) में समान राशि में निवेश करते हैं।

उदाहरण के लिए मान लेते है सेन्सेक्स (Sensex) में तीन सिक्योरिटीज शामिल हैं:

  1. टेक महिंद्रा लिमिटेड (Tech Mahindra Ltd) – 30% कुल सेन्सेक्स मूल्य का
  2. यस बैंक (Yes Bank) – 40% कुल सेन्सेक्स मूल्य का
  3. इनफ़ोसिस लिमिटेड (Infosys Ltd) – 30% कुल सेन्सेक्स मूल्य का

इंडेक्स म्यूचूअल फंड भी उन्हीं सिक्योरिटीज में समान राशि निवेशित करेगा, और उसके पॉर्ट्फ़ोलीओ में निम्नलिखित सिक्योरिटीज शामिल होंगे:

  1. टेक महिंद्रा लिमिटेड (Tech Mahindra Ltd) – 30% कुल सेन्सेक्स मूल्य का
  2. यस बैंक (Yes Bank) – 40% कुल सेन्सेक्स मूल्य का
  3. इनफ़ोसिस लिमिटेड (Infosys Ltd) – 30% कुल सेन्सेक्स मूल्य का

अतः म्यूचूअल फंड स्टॉक मार्केट के इंडेक्स को दोहराकर समान रिटर्न पाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए काम करते हैं।

स्टॉक मार्केट इंडेक्स क्या है (What is Stock Market Index?)

स्टॉक मार्केट इंडेक्स वह मापदंड है जो स्टॉक मार्केट में आने वाले बदलाव और गतिविधियों के बारे में दिखाता है। यह इंडेक्स मार्केट के उतार चढ़ाव तथा अन्य गतिविधियों की निगरानी करने के लिए बनाया जाता है। निवेश के लिए सिक्योरिटीज का चयन; उद्योग के प्रकार, प्रत्येक सिक्योरिटी के मार्केट शेयर, तथा उन सिक्योरिटीज के बाज़ार में प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है। स्टॉक मार्केट इंडेक्स के कुछ उदाहरण सेन्सेक्स (Sensex) और निफ़्टी 50 (Nifty 50) आदि हैं।

इंडेक्स का मूल्य ही सिक्योरिटीज का मूल्य होता है और इन्हें स्टॉक इंडेक्स में एक साथ जोड़ कर बताया जाता है। इसलिए, सिक्योरिटीज के मूल्य में जो बदलाव आते हैं उनका सीधा प्रभाव इंडेक्स के मूल्य पर भी पड़ता है।

इंडेक्स फंड काम कैसे करता है (How do Index Fund Work?)

Index fund एक विशेष इंडेक्स या बेंच्मार्क को ट्रैक करते हैं। एक इंडेक्स, बाजार के एक सेगमेंट/खंड को परिभाषित करता है। अगर दूसरे शब्दों में कहा जाए तो सिक्योरिटीज जो एक ही सेगमेंट/खंड का हिस्सा होती है उन्हें एक साथ मिलाकर एक इंडेक्स का निर्माण किया जाता है। ये सेगमेंट/खंड या तो एक्वटी ऑरीएंटेड इंस्ट्रमेंट्स (Equity-Oriented Instruments) होते है, जैसे कि स्टाक या फिर ये बॉंड मार्केट इंस्ट्रमेंट्स (Bond Market Instruments) होते है।

उदाहरण के लिए, निफ़्टी को ट्रैक करने वाले इंडेक्स के पास वही 50 स्टॉक्स होंगे जो निफ़्टी में है और उसी मात्रा में। इंडेक्स फंड एक विशेष बेंच्मार्क को ट्रैक करते हैं, अतः ये पैसिव्ली प्रबंधित (Passively Managed) फंड के अंतर्गत आते हैं, इसका कारण यह है कि फंड मैनजर्स किसी स्टॉक को खुद ना चुन कर सिर्फ़ एक बेंच्मार्क की नकल करते हैं। यहाँ फंड मैनज्मेंट टीम का उद्देश्य केवल बेंच्मार्क की संरचना को बनाए रखना है।

इन फंड से जो रिटर्न आता है वह लगभग बेंचमार्क के बराबर हीं होता है। और कभी दोनों के प्रदर्शन में थोड़ा अंतर आता भी है तो उसे ट्रैकिंग एरर (Tracking Error) के रूप में जाना जाता है, और इसलिए सबसे बेहतर फंड वही होता है  जिसमें सबसे कम ट्रैकिंग एरर हो। साथ हीं, इस प्रकार के फंड का Expense Ratio ऐक्टिव्ली प्रबंधित (Actively Managed) फंड की तुलना में कम होते हैं, और भविष्य के सारे लाभ उसी अनुपात में फिर से निवेश किए जाते हैं।

भारत में इंडेक्स फंड दो प्रकार के हो सकते हैं, एक इंडेक्स म्यूचूअल फंड (Index Mutual Fund) और दूसरा इंडेक्स इक्स्चेंज ट्रेडेड फंड (Index Exchange Traded Fund)। इंडेक्स म्यूचूअल फंड सीधे फंड हाउस द्वारा प्रस्तावित किया जाता है और इंडेक्स एक्स्चेंज म्यूचूअल फंड का व्यापार स्टॉक इक्स्चेंज (Stock Exchange) में होता है।

इंडेक्स म्यूचूअल फंड के प्रकार (Types of Index Mutual Funds)

Index Funds in Hindi आर्टिकल में हम अब देखेंगे की इंडेक्स म्यूच्यूअल फंड कितने प्रकार के होते है –

सेन्सेक्स या निफ़्टी में किसी भी कम्पनी का मूल्य उसके बाज़ार में निवेश या उसके Free Float Market Capitalization पर निर्भर करता है। यह इंडेक्स के कुल मार्केट कैपिटलाईजेशन (Market-Capitalization) का कुछ प्रतिशत होता है। इसलिए, यदि किसी कम्पनी का मार्केट कैपिटलाईजेशन 1 करोड़ है परंतु इंडेक्स का 200 करोड़ है, तो उसके स्टॉक का मूल्य 0.5% होगा।

सेन्सेक्स इंडेक्स फंड/SENSEX Index Fund

ये इंडेक्स फंड बीएसई सेन्सेक्स (BSE Sensex) को बेंच्मार्क इंडेक्स के रूप में ट्रैक करती हैं और बीएसई सेन्सेक्स पर 30 कम्पनीज में उनके वेटेज (Weightage) के आधार पर निवेश करती हैं। इस प्रकार के म्यूचूअल फंड, ETF’s या एक्स्चेंज ट्रेडेड फ़ांड (Exchange Traded Fund) द्वारा एक्स्चेंज पर ट्रेड किए जाते हैं।

निफ़्टी म्यूचूअल फंड/NIFTY Index Fund

ये इंडेक्स फंड एनएसई निफ़्टी 50 (NSE Nifty 50) को बेंच्मार्क इंडेक्स के रूप में ट्रैक करती हैं और निफ़्टी 50 पर 50 कम्पनीज में उनके वेटेज (Weightage) के आधार पर निवेश करती हैं। इस प्रकार के म्यूचूअल फंड ETF’s या एक्स्चेंज ट्रेडेड फ़ांड (Exchange Traded Fund) द्वारा एक्स्चेंज पर ट्रेड किए जाते हैं।

निफ़्टी जूनीयर इंडेक्स फंड/NIFTY Junior Index Fund

ये इंडेक्स फंड एनएसई निफ़्टी जूनीयर 50 (NSE Nifty Junior 50) को बेंच्मार्क इंडेक्स के रूप में ट्रैक करती हैं और एनएसई निफ़्टी जूनीयर 50 पर 50 कम्पनीज में उनके वेटेज (Weightage) के आधार पर निवेश करती हैं। इस प्रकार के म्यूचूअल फंड ETF’s या एक्स्चेंज ट्रेडेड फ़ांड (Exchange Traded Fund) द्वारा एक्स्चेंज पर ट्रेड किए जाते हैं।

इंडेक्स फंड में निवेश के क्या लाभ हैं? (What are the advantages of investing in Index funds)?

1. कम फीस/Low Fees – इंडेक्स फंड एक इंडेक्स को दोहराता है; इसलिए यहाँ स्टॉक ढूँढने और फंड मैनेजर की मदद करने के लिए किसी अनलिस्ट टीम (Analyst Team) की अवश्यकता नहीं होती है। यहाँ तक कि फंड मैनेजर्स  को भी पॉर्ट्फ़ोलीओ के निर्माण के लिए कोई विशेष प्रयास करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

इंडेक्स फंड में निवेश के फीस के कम होने का दूसरा कारण यह भी है कि इसमें स्टॉक्स की सक्रिय खरीद बिक्री नहीं होती है। यह सारे कारक मिलकर इंडेक्स फंड के प्रबंधन के खर्च को कम कर देते हैं और इसलिए यह निवेशक पर ज़्यादा फीस का दबाव नहीं डालता है।

2. बाज़ार में विस्तृत फैलाव/Broad Market Exposure – चूँकि, प्रमुख इंडेक्स समस्त बाजार का प्रतिनिधि करने के लिए बनाए जाते हैं, यही कारण है कि वे हमारी अर्थव्यवस्था (Economy) के सभी प्रमुख क्षेत्रों और उनसे सम्बंधित स्टॉक को उसमें समाहित कर पाते हैं।

समान अनुपात रूप से निवेश करना जिसमें की एक इंडेक्स के रूप में अपने धन को समान अनुपात में वैसे हीं स्टॉक में निवेश करना यह सुनिश्चित करता है कि  आपको ऐसा पोर्टफोलीयो मिला है जो विभिन्न प्रकार के स्टॉक्स और क्षेत्रों (Sectors) में फैला होता है। यह निवेश का तरीका जोखिम को कम करता है, क्योंकि सारे स्टॉक्स या क्षेत्रों में एक साथ कभी गिरावट आने की सम्भावना लगभग असम्भव है। और यह भी सम्भावना नहीं है कि आप किसी ऐसे क्षेत्र में निवेश करने से चूक जाए जिसमें रिटर्न बढ़ने की सम्भावना हो।

उदाहरण के तौर पर, अगर आप निफ़्टी 50 इंडेक्स फंड में निवेश करते हैं, तो आप उन 50 स्टॉक्स में निवेश करते हैं जो फ़ायनैन्शल सर्विसेज़ (Financial Services) से लेकर फ़ार्मा (Pharma) तक के कुल १३ क्षेत्रों में फैले हुए है।

3. बिना पक्षपात के निवेश/No Bias Investing – इंडेक्स फंड एक ऑटोमेटेड (Automated) तथा नियम-बद्ध (Rule-based) पद्धति के अनुसार कार्य करता है। फंड मैनेजर के पास एक कठोर आदेश होता है कि पैसे कहाँ निवेश करना हैं और उनका कितना फ़ॉलो अप (Follow-Up) करना है। यह निवेश से सम्बंधित निर्णय लेते वक्त मानवीय पक्षपात या पूर्वाग्रह को दूर रखने में मदद करता है।

भारत में इंडेक्स म्यूचूअल फंड पर टैक्स (Tax on Index Mutual Fund in India)

इंडेक्स फंड का रिडीमप्सन पूँजीगत (Capital Gain) लाभ के रूप में कर (Tax) की श्रेणी में आता है। साथ ही, कर का दर फंड के यूनिट्स की होल्डिंग अवधि पर निर्भर करता है।

इक्विटी फंड होने के नाते, इंडेक्स फंड पर डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स (DTT) और कैपिटल गेन टैक्स  लगता हैं।

डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स/Dividend Distribution Tax (DDT)

जब कोई फण्ड हाउस अपने निवेशको को डिविडेंड पे या लाभांश का भुगतान करता है तो भुगतान करने से पहले स्रोत पर 10% का डीडीटी काट लिया जाता है।

कैपिटल गेन टैक्स/Capital Gain Tax

ये निम्नलिखित दो तरीको से किसी म्यूच्यूअल फंड पर लगता है शोर्ट टर्म कैपिटल गेन या फिर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन –

  1. अल्प-अवधि पूँजीगत लाभ/Short-Term Capital Gains – शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन तब लागू होता है जब यूनिट्स की होल्डिंग अवधि 12 महीने से कम हो। इसके अंतर्गत लाभ की राशि पर 15% की दर से कर लगाया जाता है।
  2. दीर्घ-अवधि पूँजीगत लाभ/Long-Term Capital Gains – लोंग टर्म कैपिटल गेन तब लागू होता है जब यूनिट्स की होल्डिंग अवधि 12 महीने से अधिक हो। इसके अंतर्गत लाभ की राशि पर बिना इंडेक्सेसन के लाभ के 10% की दर से कर लगाया जाता है।

इंडेक्स फंड में निवेश क्यों करना चाहिए (Why should invest in an Index Fund?)

Warren Buffet, जो कि आ दिग्गज निवेशक है, वे अमेरिकी निवेशकों को म्यूचूअल फंड के माध्यम से इंडेक्स फंड में निवेश करने की सलाह देते हैं। इसका कारण यह है कि दुनिया का सबसे बड़ा म्यूचूअल फंड इंडेक्स फंड है और लाखों लोग इस पर भरोसा करते हैं।

इंडेक्स फंड का लक्ष्य एक बेंचमार्क के प्रदर्शन से मेल खाना होता है। शेयर बाज़ार का इंडेक्स एक निवेशक को लम्बी अवधि के लिए लाभ प्रदान करता है। इसलिए ये फंड उन निवेशकों के लिए सबसे ज़्यादा उपयुक्त है जो मूल रूप से रिटायरमेंट के लिए या लम्बी अवधि के लिए निवेश करने के इच्छुक हो। ये फंड उन निवेशकों के लिए भी आदर्श विकल्प है जो अनुमानित रिटर्न का लाभ उठना पसंद करते हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए कि इस प्रकार के निवेश में जोखिम अधिक नहीं होता है, इसलिए यह जोखिम से बचने वाले निवेशकों के लिए भी एक अच्छा विकल्प है। इसके साथ ही, इंडेक्स फंड पैसिव्ली (Passively) प्रबंधित फंड होते हैं, इसलिए इन्हें एक पॉर्ट्फ़ोलीओ के मॉनिटरिंग (Monitoring) की अवश्यकता नहीं होती है।

वहीं दूसरी तरफ, एक ऐक्टिव्ली (Actively) प्रबंधित फंड का पॉर्ट्फ़ोलीओ फंड मैनेजर की भविष्यवाणी तथा दूरदर्शिता (Predictions and Vision) पर निर्भर होता है, जिसके साथ एक जोखिम का तत्व भी जुड़ा होता है। ऐक्टिव्ली प्रबंधित फंड के मामले में उस पॉर्ट्फ़ोलीओ को लगातार मॉनिटरिंग की अवश्यकता होती है। इसलिए, इंडेक्स फंड उन निवेशकों के लिए भी उपयुक्त है जो निवेश करके लम्बी अवधि के लिए अपने निवेश को देख या रिव्यु नही कर पाते हैं। जैसे की हमने ऊपर देखा की इंडेक्स फंड से आने वाला रिटर्न बेंचमार्क से मेल खाता है तो इसका मतलब ये है कि निवेशक उस बेंचमार्क से अधिक रिटर्न की उम्मीद नहीं कर सकते हैं। इसलिए, वे निवेशक जो अधिक रिटर्न की आशा करते हैं उनके लिए ऐक्टिव्ली प्रबंधित फंड एक उचित विकल्प है।

इंडेक्स फंड में निवेश क्यों ना करें (Why not invest in index funds?)

इंडेक्स फंड बहुत हीं सरल और आसान हैं, परंतु फिर भी सभी के लिए नहीं हैं। इंडेक्स फंड में निवेश के कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं:

  • इंडेक्स फंड को विशेषतः बाज़ार के प्रदर्शन से मेल खाने के लिए डिजाइन किया गया है, यही कारण है कि इंडेक्स फंड कभी बाज़ार को पीछे नहीं छोड़ सकता। इसलिए अगर आप एक बेहतरीन निवेशक के रूप में अपनी कबीलीयत साबित करना चाहते हैं तो इंडेक्स फंड आपको वह मौक़ा नहीं देगा।
  • इंडेक्स फंड में निवेश के बाद आपके पास नुकसान से बचने के लिए कोई सुरक्षा योजना नहीं होती है। इंडेक्स फंड बाज़ार के अच्छे और बुरे समय को ट्रैक करता है, और जब बाज़ार में गिरावट आती है तब आपका इंडेक्स फंड भी नीचे आएगा।
  • आपको हमेशा वे स्टॉक नहीं मिलेंगे जो आपको पसंद हो। आपके द्वारा चुने गए इंडेक्स के आधार पर, आप कुछ ऐसे शेयर के मालिक बन सकते हैं जिन्हें आप नहीं चाहते बजाय उनके जिन्हें आप खरीदना चाहते हैं।

इंडेक्स फंड की इन कुछ कमियों के प्रभाव को कम करने के लिए आप हमेशा एक मिश्रण का विकल्प चुन सकते है।, जहां आप इंडेक्स फंड तथा अन्य योजनाओं में निवेश कर सकते हैं जिससे आपके निवेश और रिटर्न से संबंधित लचिलापन बढ़ सके। परंतु फिर भी यदि आप केवल इंडेक्स फंड का उपयोग करना चाहते हैं तो आपको उनकी कमियों और सीमाओं को समझना होगा और मानना होगा।

इंडेक्स फंड में निवेश कैसे करें (How to Invest in Index Funds)

पेपरलेस डॉक्यूमेंटेशन और परेशानी मुक्त प्रक्रिया के साथ इंडेक्स फंड में निवेश करना पहले से कहीं ज्यादा आसान हो गया है। हमने निम्नलिखित चरणों के माध्यम से upstox के माध्यम से निवेश का सारांश दिया है।

  • Upstox.com में साइन इन करें।
  • निवेश की राशि और निवेश की अवधि के बारे में विवरण दर्ज करें5 मिनट से भी कम समय में अपना ई-केवाईसी करवाएं।
  • चुनिंदा म्यूचुअल फंडों में से अपने पसंदीदा इंडेक्स फंड में निवेश करें।

सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

Index Funds in Hindi में हम सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न पर चर्चा कर लेते है –

आपको इंडेक्स म्यूचूअल फंड में निवेश क्यों करना चाहिए?

उत्तर: यदि आप दीर्घ-अवधि (Long-term) के लिए निवेश करना चाहते हैं, तो इंडेक्स फंड आपके लिए एक अच्छा विकल्प है। इस प्रकार के फंड के पॉर्ट्फ़ोलीओ को सेन्सेक्स और एनएसई (NSE) के संरचना और व्यवहार को ट्रैक करने के बाद बनाया जाता है। चूँकि, ये पॉर्ट्फ़ोलीओ लम्बे समय तक स्टॉक और शेयर के प्रदर्शन का मूल्यांकन (Evaluation) करने के बाद विकसित किए जाते हैं, इसलिए आपके द्वारा किए गए निवेश अच्छा प्रदर्शन ना करे ऐसी सम्भावना बहुत कम होती है। यही कारण है कि इंडेक्स फंड में निवेश करना एक अच्छा विकल्प है और इसकी सलाह दी भी जाती है, विशेष रूप से जब आप जोखिम कम करना चाहते हैं।

एक विशेष इंडेक्स म्यूचूअल फंड का चयन कैसे करें?

उत्तर: आपको अपने निवेश के लिए एक इंडेक्स म्यूचूअल फंड के दीर्घ काल के प्रदर्शन के आधार पर एक व्यक्तिगत पॉर्ट्फ़ोलीओ का चुनाव करना चाहिए। एसबीआई (SBI), एलआईसीआई (LICI), आईसीआईसीआई प्रूडेनसीयल यूटीआई (ICICI Prudential UTI) कुछ विश्वास योग्य म्यूचूअल फंड हैं और कुछ सामान इंडेक्स म्यूचूअल फंड हैं जिनका उपयोग बेंचमार्किंग के आधार के रूप में किया जाता है।

इंडेक्स म्यूचूअल फंड में निवेश का मुख्य लाभ क्या है?

उत्तर: इंडेक्स फंड पैसिव्ली प्रबंधित होते हैं, इसलिए इंडेक्स फंड का टोटल एक्सपेंस रेसीयो (Total Expense Ratio) या TER ऐक्टिव्ली प्रबंधित फंड की तुलना में बहुत कम होते हैं। इसका अर्थ यह है कि आपका निवेश कम होगा और जो सम्भावित खर्च है वह आपके निवेश का 0.2% से 0.5% जितना कम हो सकता है। इंडेक्स म्यूचूअल फंड में निवेश करने का सबसे प्रमुख लाभ इसका कम TER है।

एसबीआई (SBI) निफ़्टी इंडेक्स फंड से कितनी उम्मीद की जा सकती है?

उत्तर: एसबीआई निफ़्टी इंडेक्स फंड पैसिव्ली प्रबंधित फंड है और इसके वृद्धि का दर निफ़्टी 50 वृद्धि दर  15.5% की तुलना में 15.19% है। इसलिए, यदि आप एसबीआई निफ़्टी इंडेक्स फंड 10 वर्ष के लिए निवेश करते हैं, तब आप अपने निवेश पर 85.77% रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं।

यदि आप आईसीआईसीआई प्रूडेनसीयल निफ़्टी म्यूचूअल फंड में निवेश करते हैं, तो आप क्या उम्मीद कर सकते हैं?

उत्तर: आईसीआईसीआई प्रूडेनसीयल निफ़्टी म्यूचूअल फंड की श्रेणी का औसत (Category Average) 16.78% है। इसलिए, मान लीजिए, यदि अपने 5 वर्ष के लिए निवश किया तो आप 45.88% के रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं।

इंडेक्स फंड डाईवरसीफिकेसन (Diversification) में कैसे अपना योगदान देते हैं?

उत्तर: इंडेक्स फंड में मुख्य रूप से विशिष्ट कंपनियाँ (Top Companies) होती हैं, जिनका स्टॉक्स बेंचमार्क के रूप में उपयोग किया जाता हैं। इसके साथ हीं आपके पास एक पॉर्ट्फ़ोलीओ में कई विशिष्ट कंपनियाँ होंगी, जिसका अर्थ यह है कि आपके निवेश में घाटा होने की सम्भावना कम हो जाती है। ये ऑटो डाईवरसीफिकेसन (Auto-diversification) निवेशकों के निवेश को खोने के जोखिम को कम कर देती है।

इंडेक्स म्यूचूअल फंड में निवेश करने पर कब विचार करना चाहिए?

उत्तर: आपको तब इंडेक्स म्यूचूअल फंड में निवेश करना चाहिए जब आप अपने निवेश को कम से कम 5 वर्ष तक रखने के लिए तैयार हों।

सबसे अच्छे इंडेक्स फंड को चुनने का तरीक़ा क्या है?

उत्तर: यदि आप निवेश के क्षेत्र में नए है तो आपको फंड मैनेजर से इसके बारे में सलाह लेनी चाहिए, क्योंकि वे आपकी सबसे बेहतर फंड चुनने में सहायता करेंगे। साथ हीं आपको निवेश की समय अवधि पर भी ध्यान देना चाहिए।

इंडेक्स फंड में निवेश करने के लिए आदर्श रूप से कौन उपयुक्त है?

उत्तर: वे व्यक्ति जो म्यूचूअल फंड में निवेश करते समय जोखिम नहीं लेना चाहते उनके लिए इंडेक्स म्यूचूअल फंड में निवेश करना सबसे अच्छा विकल्प है और उन्हें इसमें निवेश करने पर विचार करना चाहिए। ये फंड, निवेशक को ना केवल सुनिश्चित रिटर्न का भरोसा दिलाती है, बल्कि निवेशक को बहुत अधिक निवेश करने की भी आवश्यकता नहीं होती है।

आज हमने देखा कि What are Index Funds 2021 in Hindi, आगे हम म्यूच्यूअल फंड के और भी रोचक टॉपिक आपके लिए लाते रहेंगे । आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमे बताएं। हमे आपके सुझाव एवं कमेंट्स का इंतज़ार रहेगा। बने रहिये apneebachat.com पर।

You may also like

Leave a Comment