What are Large Cap Mutual Funds in Hindi | Large Cap Funds Kya hote hai | लार्ज कैप फंड कैसे स्टेबल रिटर्न जनरेट करने में मदद करता है?

by Neeti Jain
9 mins read
What are Large Cap Mutual Funds in Hindi

What are Large Cap Mutual Funds in Hindi, Large Cap Funds Kya hote hai, लार्ज कैप फंड कैसे स्टेबल रिटर्न जनरेट करने में मदद करता है?

What are Large Cap Mutual Funds in Hindi, Large Cap Funds Kya hote hai, लार्ज कैप फंड के बारे ने जाने सब कुछ, कैसे लार्ज कैप फंड स्टेबल रिटर्न जनरेट करने में मददगार होते है – जैसे की हम जानते है इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करना एक चुनौतीपूर्ण काम है. एक अच्छी म्यूच्यूअल फंड स्कीम चुनना एक कठिन काम या प्रोसेस हो सकता है क्यूंकि स्कीम चुनते समय आपको सही स्टॉक, अच्छा फंड मैनेजर और स्कीम का पिछला प्रदर्शन अच्छा हो ये सब बातो का ध्यान एक साथ रखना होता है। इक्विटी पोर्टफोलियो का चयन करते समय, कंपनी का मार्किट कैप या साइज़ एक महत्वपूर्ण पैरामीटर है। क्यूंकि , मार्किट कैप कंपनी में निवेश के प्रॉफिट और रिस्क को निर्धारित करता है।

इक्विटी म्यूचुअल फंड योजनाओं को मार्किट कैप आधार पर भी वर्गीकृत किया जाता है – लार्ज-कैप म्यूचुअल फंड, मिड-कैप म्यूचुअल फंड , स्मॉल-कैप म्यूचुअल फंड, मल्टी-कैप म्यूचुअल फंड , आदि। निवेश शुरू करने से पहले इन सभी और इनकी शर्तो को समझना महत्वपूर्ण है। फिलहाल आज के लेख में हम लार्ज कैप म्यूचुअल फंड और उनकी विशेषताओं के बारे में बात करेंगे।

मार्किट कैप से सम्बंधित ये महत्वपूर्ण ब्लॉग पोस्ट भी पढ़े –
1. मार्किट कैप क्या होता है ये क्यों इतना महत्वपूर्ण होता है?
2. BSE का मार्किट कैप

लार्ज कैप म्यूचुअल फंड क्या है (What is Large Cap Mutual Fund)

Large Cap Fund Meaning Hindi – लार्ज कैप म्यूचुअल फंड वो इक्विटी फंड हैं जो अपनी कुल संपत्ति (total asset) का एक बड़ा हिस्सा बड़े मार्किट कैप वाली कंपनियों में निवेश करते हैं। ये कंपनियां अत्यधिक प्रतिष्ठित हैं, ये लंबी अवधि का उत्कृष्ट ट्रैक रिकॉर्ड रखती है  एवं अपने निवेशकों के लिए लॉन्ग टर्म में उनके धन को बढ़ाने में मदद करती हैं। और यही कारण है कि लार्ज कैप फंड रेगुलर डिविडेंड/नियमित लाभांश और धन को स्थिर चक्रवृद्धि के माध्यम से समय के साथ बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं।

इन योजनाओं में स्मॉल-कैप या मिड-कैप योजनाओं की तुलना में कम जोखिम होता है और इन्हें स्थिर रिटर्न देने के लिए जाना जाता है। वे अपेक्षाकृत कम जोखिम लेने की क्षमता और लंबी अवधि के निवेश क्षितिज वाले निवेशकों के लिए एक अच्छा विकल्प हैं। सेबी के अनुसार , लार्ज-कैप कंपनियां मार्किट कैप के हिसाब से कंपनियों की सूची में शीर्ष 100 में आती हैं। इसलिए, इन कंपनियों में निवेश करना कम जोखिम भरा और स्थिर माना जाता है।

लार्ज-कैप इक्विटी फंड कैसे काम करते हैं? (How do Large-cap Equity Funds work?)

लार्ज-कैप इक्विटी फंड अपने पोर्टफोलियो का एक बड़ा हिस्सा बड़े मार्किट कैपिटलाइजेशन के तहत आने वाली कंपनियों में निवेश करते हैं। लार्ज-कैप कंपनियां काफी समय से अच्छी तरह से स्थापित एवं अच्छे ट्रैक रिकॉर्ड वाली कंपनियां होती हैं, और जिनके यहाँआमतौर पर स्थिर कॉर्पोरेट गवर्नेंस  प्रेक्टिस फॉलो होती हैं। ये कॉरपोरेट घराने हमेशा बाजार में सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले लोगों में से होते हैं, जिन्होंने अपने निवेशकों के लिए लंबी अवधि में धीरे-धीरे और लगातार धन अर्जित किया है।

हाल ही में, सेबी के पुन: वर्गीकरण ने यह निर्धारित करने के लिए मानदंड संशोधित किया है कि कोई कंपनी लार्ज-कैप, स्मॉल-कैप या मिड-कैप है या नहीं। लार्ज-कैप कंपनियां वे हैं जो दिए गए बेंचमार्क के शीर्ष 100 रैंक में आती हैं। स्मॉल-कैप और मिड-कैप फंडों की तुलना में, ये फंड कम जोखिम वाले होते हैं और अपेक्षाकृत जोखिम से बचने वाले निवेशकों के लिए आदर्श हो सकते हैं। धैर्य रखना और लंबी अवधि का नजरिया रखना लार्ज-कैप फंडों के लिए एक बेहतर निवेश रणनीति हो सकती है।

लार्ज-कैप इक्विटी फंड में किसे निवेश करना चाहिए? (Who should invest in Large-cap Equity Funds?)

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, लार्ज-कैप इक्विटी फंड बड़ी फर्मों में निवेश करते हैं। वे लंबी अवधि में बेहतर पूंजी प्रशंसा प्रदान करने का प्रयास करते हैं और नियमित रूप से अपने निवेशको में लाभांश भी वितरित करते रहते हैं।

लार्ज-कैप में निवेश करना उन लोगों के लिए एक अवसर है जो इक्विटी निवेश का लाभ तो उठाना चाहते हैं, लेकिन यह नहीं चाहते कि उनके रिटर्न में बेंचमार्क (यानी सेंसेक्स या निफ्टी) से अधिक उतार-चढ़ाव हो। चूंकि लार्ज कैप फंड  आर्थिक रूप से स्थिर होते हैं, वे  बाजार के उतार को झेलने में सक्षम होते हैं, लेकिन यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है कि ये मिड-कैप या स्मॉल-कैप इक्विटी फंड की तुलना में कम रिटर्न दे सकता है। इसलिए, लार्ज कैप को अपने पोर्टफोलियो में रखने का मुख्य उद्देश्य अपने पोर्टफोलियो में नुकसान के प्रभाव को कम करना है और गिरावट के समय में बाजार में निवेश जारी रखना है। उपरोक्त सभी बातो से पता चलता है कि, ये फंड जोखिम से बचने वाले निवेशकों के लिए आदर्श हैं जो उच्च गुणवत्ता वाले शेयरों में इक्विटी एक्सपोजर चाहते हैं और दीर्घकालिक निवेश परिप्रेक्ष्य रखते हैं।

लार्ज-कैप फंड आपके निवेश क्षितिज और जोखिम / रिटर्न के उद्देश्यों पर निर्भर करते हैं – सलाह ये दी जाती है की लार्ज कैप फण्ड में पांच से सात साल के निवेश क्षितिज को ध्यान में रख कर निवेश किया जाये। इसका मतलब यह नहीं है कि ये फंड किसी भी मंदी के प्रति इम्यून या प्रतिरक्षित हैं, बल्कि अधिक सम्भावना ये है कि ये मंदी का सामना करने में सक्षम है। इसलिए संक्षेप में, यदि आप अपने पोर्टफोलियो में रिडेम्पशन के टाइम के आसपास स्थिरता चाहते हैं, तो आपके लिए लार्ज-कैप फंड अधिक उपयुक्त हैं।

लार्ज कैप फंड में निवेश करने से पहले ध्यान देने योग्य बातें (Things to Consider Before Investing in Large Cap Funds)

निवेश जोखिम (Investment Risk) or  लार्ज कैप फंड का जोखिम और वापसी (Risk and Return of Large Cap Funds)सभी इक्विटी म्यूचुअल फंड मार्किट की कंडीशन के हिसाब से प्रभावित होते हैं। जब स्कीम के बेंचमार्क में उतार-चढ़ाव होता है, तो नेट एसेट वैल्यू (एनएवी) भी ऊपर या नीचे जाती है। हालांकि, स्मॉल-कैप और मिड-कैप योजनाओं के विपरीत, लार्ज-कैप फंड की एनएवी में बहुत अधिक उतार-चढ़ाव नहीं होता है। इसलिए, लार्ज-कैप योजनाओं में निवेश करने से आपके निवेश पोर्टफोलियो में स्थिरता आती है। और आप अपने निवेश पोर्टफोलियो के मूल को उनके आसपास संरेखित करने के बारे में सोच सकते हैं।

रिटर्न (Return)

बहुत से लोग लार्ज-कैप इक्विटी फंडों से गलत प्रदर्शन की उम्मीद रखते है, क्योंकि इनका कई वर्षों का इतिहास है जो बाजार के निचले और उच्च स्तर दोनों के दौरान मजबूत प्रदर्शन का संकेत देता है । इन फंडों से मिलने वाला रिटर्न स्थिर होता है, और यही वो कंडीशन है जो आपके गिरते मार्किट टाइम में स्थिर रिटर्न दे कर आपको जीत दिला सकता है। बाजार अपने चरम पर होने पर भी अगर ये फंड उस टाइम उच्च रिटर्न नहीं देते हैं तो आप निराश न हों, बल्कि धैर्य रखे।

अगर बात की जाये तो इन योजनाओं से रिटर्न आमतौर पर मिड-कैप या स्मॉल-कैप फंड से कम होता है। याद रखें, अगर आप कम जोखिम पर स्थिर रिटर्न चाहते हैं तो आपको लार्ज-कैप फंडों में निवेश करना चाहिए।

एक्सपेंस रेश्यो (Expense Ratio)

आपके निवेश के प्रबंधन के लिए फंड हाउस द्वारा लिया जाने वाला शुल्क व्यय अनुपात या एक्सपेंस रेश्यो कहलाता है। यह फंड की कुल संपत्ति का प्रतिशत होता  है जो प्रशासनिक और अन्य फंड प्रबंधन कारणों में  उपयोग किया जाता है। भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने अनिवार्य किया है कि फंड हाउस 2.50% से अधिक का एक्सपेंस रेश्यो नहीं ले सकते हैं। हालांकि, चूंकि अधिकांश लार्ज-कैप फंड मिड-कैप या स्मॉल-कैप योजनाओं की तुलना में कम रिटर्न देते हैं, इसलिए आपको अपने रिटर्न को अधिकतम करने में मदद करने के लिए कम व्यय अनुपात वाली योजना की तलाश करनी चाहिए।

 लघु अवधि के निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं (Not suitable for Short-Term Investors)

जब बाजार में गिरावट आती है, तो लार्ज-कैप फंड भी अपने पोर्टफोलियो के खराब प्रदर्शन का अनुभव करते हैं। हालांकि, चूंकि पैसा आर्थिक रूप से मजबूत कंपनियों में निवेश किया जाता है, इसलिए यह अंडरपरफॉर्मेंस एक अवधि के दौरान औसत हो जाता है। सामान्य समझ यह है कि यदि आप सात साल से अधिक समय तक निवेशित रहते हैं, तो आप लगभग 10-12% के रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं। इसलिए, लार्ज-कैप म्यूचुअल फंड आमतौर पर लंबी अवधि के निवेश क्षितिज वाले निवेशकों के लिए recommended अनुशंसित होते हैं।

अपने वित्तीय लक्ष्यों पर विचार करें (Consider your financial goals)

भले ही लार्ज कैप फंड में पैसा भारत की टॉप 100 कंपनियों में लगाया जाता है किन्तु फिर भी लार्ज-कैप म्यूचुअल फंड में भी रिस्क होता है पर फिर भी अगर इनकी तुलना स्माल या मिडकैप फंड से की जाये तो ये स्थिर रिटर्न देते हैं। इसलिए, कई निवेशक रिटायरमेंट प्लानिंग  के लिए अपने निवेश की योजना बनाते समय इन योजनाओं की ओर रुख करते हैं। इसके अलावा, जो निवेशक बहुत अधिक जोखिम उठाए बिना इक्विटी बाजारों में निवेश हासिल करना चाहते हैं, वे लार्ज-कैप म्यूचुअल फंड में निवेश करना पसंद करते हैं। निवेश करने से पहले अपने वित्तीय लक्ष्यों पर विचार करना महत्वपूर्ण है।

लार्ज कैप फंड्स पर टैक्स (Tax on Large Cap Funds)

इक्विटी फंड होने के नाते, लार्ज-कैप म्यूचुअल फंड पर पूंजीगत लाभ कर (कैपिटल गेन टैक्स) और लाभांश वितरण कर (डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स) लगाया जाता हैं ।

डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स (डीडीटी)

जब कोई फंड हाउस लाभांश डिविडेंड का भुगतान करता है, तो उसे भुगतान करने से पहले स्रोत पर 10% का डीडीटी काटने की आवश्यकता होती है।

कैपिटल गेन टैक्स

लार्ज-कैप फंड की इकाइयों को रिडीम करने पर, आप पूंजीगत लाभ अर्जित करते हैं – जो कर योग्य होते हैं। टैक्स की दर होल्डिंग अवधि पर निर्भर करती है – वह अवधि जिसके लिए आपने फंड में निवेश किया था।

  • अगर आपने फंड को एक वर्ष तक के लिए होल्ड किया है तो होल्डिंग अवधि के दौरान आपके द्वारा अर्जित कैपिटल gain शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन (STCG) कहलाता है, जिस पर 15% कर लगता है।
  • एक वर्ष से अधिक की होल्डिंग अवधि के लिए आपके द्वारा अर्जित पूंजीगत लाभ = लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन (LTCG) कहलाता है। रु. 1 लाख तक के लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन (LTCG) आयकर योग्य नहीं होता है। इस राशि से ऊपर के किसी भी लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन (LTCG) पर बिना इंडेक्सेशन बेनिफिट के 10% की दर से टैक्स लगता है।

बेस्ट लार्ज कैप म्यूचुअल फंड में निवेश के फायदे (Advantages of investing in best large cap mutual funds)

Benefits of Large Cap Mutual Fund – लार्ज कैप फंड्स के निम्नलिखित फायदे या लाभ है –

स्थिरता (Stability) – लार्ज कैप कंपनियों की लगातार आय और वृद्धि होती है और इसलिए इन कंपनियों में निवेश एक सुरक्षित निवेश माना जाता है। सर्वश्रेष्ठ लार्ज कैप फंड में निवेश करने से आपके पोर्टफोलियो में स्थिरता आती है और आपको संभावित रूप से स्थिर और उच्च रिटर्न मिलता है।

कैपिटल एप्रिसिएशन (Capital Appreciation) – लार्ज कैप फंड कम से कम 5-7 सालों के निवेश क्षितिज में अपने निवेशकों की पूंजी में वृद्धि करने में सक्षम होते हैं। कुछ लार्ज कैप कंपनियां अपनी ठोस वित्तीय स्थिति और लगातार पूंजी सृजन के कारण नियमित लाभांश का भुगतान करती हैं।

उच्च तरलता (High Liquidity)  – लार्ज कैप फंड बीयारिश बाजार (जब मार्किट में उतार हो) में अच्छी तरलता प्रदान करते हैं। अस्थिर बाजार की स्थिति में नुकसान को कम करने के लिए निवेशक अपने पोर्टफोलियो को आसानी से लिक्वीडेट कर सकते हैं। यह फंड मैनेजरों को जरूरत के अनुसार खरीद या बिक्री करके अधिकतम रिटर्न प्रदान करने की अनुमति देता है।

विविधीकरण/डायवर्सिफिकेशन (Diversification) – टॉप लार्ज कैप फंड निरंतर निगरानी की आवश्यकता के बिना विविध क्षेत्रों में अग्रणी कंपनियों में निवेश करने का अवसर देते हैं।

बाजार में मंदी का सामना (Withstand Market downturn) – लार्ज कैप फंड बाजार में गिरावट का सामना करने के लिए पर्याप्त विश्वसनीय हैं।

लार्ज कैप फंड्स का नुकसान (Disadvantages of large cap funds)

लार्ज कैप फंड्स के निम्नलिखित नुकसान है –

जोखिम लेने वालों के लिए नहीं (Not meant for risk takers) – निवेशक जो उच्च रिटर्न के बदले में जोखिम लेने के इच्छुक हैं, लार्ज कैप फंड उन निवेशको के लिए नही है, क्योंकि ये कम जोखिम पर एक स्थिर और नियमित आय प्रदान करते हैं। और ध्यान रखे की भले ही बाज़ार बढ़ रहा हो पर उसके कम आपकी कोई अतिरिक्त आय नहीं होगी।

शॉर्ट टर्म के लिए अच्छा निवेश नहीं होता है (Not a good investment for short term) – लार्ज कैप फंड लॉन्ग टर्म कैपिटल एप्रिसिएशन के लिए उपयुक्त होते हैं न कि शॉर्ट टर्म में इनकम जेनरेट करने के लिए।

कम रिटर्न (Low returns)– लार्ज कैप फंड मिड कैप और स्मॉल कैप फंड की तुलना में कम रिटर्न देते हैं।

स्वामित्व की कमी (Less power of ownership) – एक निवेशक का यह अधिकार नहीं होगा कि निवेश कैसे और कब किया जाता है क्योंकि ऐसे सभी निर्णय फंड प्रबंधकों द्वारा लिए जाते हैं।

इसलिए, यदि आप कम खर्च करने योग्य आय और उच्च प्रतिफल के उद्देश्य से बाजार में प्रवेश कर रहे हैं, तो आपको अपनी पूंजी को नियोजित करने के लिए अन्य विकल्पों का विकल्प चुनना चाहिए।

निष्कर्ष (Conclusion)

चूंकि लार्ज कैप फंड बड़े बाजार पूंजीकरण वाली कंपनियों में निवेश करते हैं, इसलिए इन फर्मों के पास खराब बाजारों और आर्थिक चक्रों से बचने के लिए आकार और पैमाना होता है। इसलिए, लार्ज कैप में निवेश को सभी इक्विटी म्यूचुअल फंड श्रेणियों में सबसे सुरक्षित माना जाता है। हालांकि, यह  हमेशा याद रखना चाहिए कि भले ही आप निवेश भारत की बड़ी कंपनी में कर रहे है किन्तु आपका  अंतर्निहित निवेश देखा जाये तो इक्विटी में ही है जो की जोखिम भरा हो सकता है। ये बात है कि लार्ज कैप के जोखिम अपेक्षाकृत कम हैं, जिससे रिटर्न भी स्थिर रहेगा और बुल मार्केट चरणों के दौरान असाधारण रिटर्न भी नहीं होगा। ऐसे निवेशक जो कुछ हद तक जोखिम के साथ मध्यम लेकिन निरंतर रिटर्न पसंद करते हैं; सर्वश्रेष्ठ लार्ज कैप फंड में निवेश कर सकते हैं।

आज हमने पढ़ा कि – Large Cap Funds Kya hote hai और लार्ज कैप फंड कैसे स्टेबल रिटर्न जनरेट करने में मदद करता है? आगे हम म्यूच्यूअल फंड से रिलेटेड और भी ऐसे आर्टिकल देखेंगे, तब तक बने रहिये हमारे साथ अपनीबचत पर।

You may also like

Leave a Comment