Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde?

by Rahul Gupta
5 mins read
Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde

Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde, – आरडी एक बहुत ही अच्छा निवेश उत्पाद है ,  यह  short term goals (शोर्ट टर्म गोल्स)  को पूरा करने के लिए एक बहुत ही अच्छा तरीका है। तो चलिए इस पोस्ट के माध्यम से आज हम Recurring Deposit (RD) के सभी पहुलुओ को जानेंगे।

रेकरिंग डिपाजिट क्या है?

What is Recurring Deposit (RD) – हमने ये कहावत तो सुनी ही होगी की पानी की एक एक बूँद से सागर बन सकता है, इसी का पर्याय Recurring Deposit (रेकरिंग डिपाजिट) है| या हम ऐसा भी कह सकते है कि –

Recurring Deposit (रिकरिंग डिपॉजिट (आरडी)) को हम ऐसे भी समझ सकते है कि, ये हर महीने पैसा जमा करने का सबसे अच्छा तरीका है। जब हम  RD Account (अकाउंट) खोलते हैं, तो हम एक ज्ञात अवधि के लिए हर महीने कुछ राशि का भुगतान करते हैं।

RD (आरडी) एक बहुत ही अच्छा निवेश का तरीका है इसे न केवल समझना और मैनेज करना आसान है, बल्कि जीवन में अपने short term goals (शोर्ट टर्म गोल्स) को पूरा करने के लिए शक्तिशाली निवेश तकनीक है| साथ ही इसके जरिये कोई भी अपने long term goals (दीर्घकालिक लक्ष्यों) के लिए नींव रख सकता है। कई बार ऐसे भी कहा जाता है कि आरडी के बारे जानना १-२-३ सिखने जैसे है|

कोई भी ऐसे लोग जो हर महीने कुछ राशी आरडी में डालकर निवेश करते है वो आरडी के मेच्युर्ड अमाउंट (परिपक्वता मूल्य) को बहुत से जगह प्रयोग में ला सकते है जैसे बच्चों के लिए शैक्षिक शुल्क के भुगतान के लिए परिपक्वता मूल्य का उपयोग कर सकते हैं, आयकर छूट का दावा करने के लिए कर बचत बांड में निवेश कर सकते हैं आदि। मेच्युर्ड अमाउंट का उपयोग संपत्ति, जैसे कार, घर, फ्लैट और अपार्टमेंट प्राप्त करने के लिए भी किया जा सकता है।

हम पढ़ रहे है – Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde,

आज हम जानेंगे की कैसे इस सरल financial product (वित्तीय उत्पाद) का उपयोग कर हम अपने गोल्स तक पहुँच सकते है|

आरडी खोलने से पहले हमे किन महत्वपूर्ण बातोँ को जानना व जांचना चाहिए?

Important points bfore opening an RD – आरडी एक निवेश का तरीका और ये विभिन्न बैंकों द्वारा उपलब्ध कराया जाता है। हमारी निवेश की हुई मूल राशि को नियमित अंतराल पर ब्याज मिलता है और एकमुश्त राशि मेच्युरीटी (परिपक्वता) के समय जमाकर्ता को सौंप दी जाती है। वैसे आरडी एक सुरक्षित निवेश विकल्प है और निवेश किए गए पैसो पर लाभ की गारंटी भी होती है| मगर कुछ कारक हैं जो किसी व्यक्ति को आरडी (आवर्ती जमा) खाते में पैसा लगाने से पहले विचार करना चाहिए।

RD में दिए जाने वाली Interest Rate (ब्याज दर): बैंको द्वारा दिए जाने वाला ब्याज दो चीजो पर निर्भर करता है एक तो बैंक और दूसरा समय अवधि, उदहारण के लिए हो सकता है 6 महीने की समय अवधि में मिलने वाली ब्याज दर 2 साल में मिलने वाली ब्याज दर से अलग हो सकता है| ऐसे भी हो सकता है बैंक A एक साल की समय अवधि के लिए ब्याज दर मान लो 8% दे रहा है तो जरुरी नही उसी अवधि के लिए बैंक B भी हमे वही ब्याज दर दे|

मतलब ये है की समय अवधि और बैंक पर ब्याज दर निर्भर करती है|वापसी की दरें (रेट ऑफ़ रिटर्न्स) जमा के कार्यकाल के आधार पर भिन्न होती हैं। मध्यम अवधि की जमाओं के लिए, दरें आमतौर पर सबसे अधिक होती हैं। लंबी अवधि की जमाओं के लिए, दरें आमतौर पर थोड़ी कम होती हैं क्योंकि जमा धारक समग्र रूप से अधिक राशि प्राप्त करने के लिए खड़ा होता है।

RD खाते की अवधि: अवधि को तीन श्रेणियों में विभाजित किया गया है:

Short Term (अल्पकालिक कार्यकाल): एक अल्पकालिक कार्यकाल आमतौर पर 6 महीने से एक वर्ष तक रहता है।

Medium Term (मध्यमावधि कार्यकाल): एक मीडियम-टर्म टेन्योर आमतौर पर एक साल से ज्यादा से 5 साल तक रहता है।

Long Term (दीर्घकालिक कार्यकाल): एक दीर्घकालिक कार्यकाल 5 वर्ष से 10 वर्ष तक रहता है।

आवर्ती जमा खाते में समयपूर्व निकासी की सुविधा: Recurring Deposit Account (आवर्ती जमा खाता) खोलने की सुविधा प्रदान करने वाले सभी बैंक इसके साथ समय से पहले निकासी का विकल्प भी प्रदान करते हैं। देय ब्याज की गणना इस आधार पर की जाएगी कि कार्यकाल कितना पूरा हुआ है। बैंक द्वारा समय से पहले निकासी पर जुर्माना भी लगाया जाता है । इसलिए, एक आवर्ती जमा खाते में निवेश करते समय, ऐसे बैंक का चयन करें जो ब्याज की उच्च दर प्रदान करता है और समय से पहले निकासी पर कम शुल्क लेता है।

हम पढ़ रहे है – Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde

आरडी कैसे काम करती है?

How does RD works – आपके आरडी का पैसा बैंक के पास है और बैंक इस पैसे को बैंक से उधार (ऋण) लेने वालों को देता है। बैंक ऋणों पर उच्च ब्याज दर (10-12%) लेता है। इस प्रकार, बैंक जमा पर कम ब्याज देते हैं और ऋण पर अधिक ब्याज लेते हैं और इस तरह बैंक ब्याज मार्जिन पर कमाते हैं।

अगर आप हर महीने 6 महीने के लिए पैसा जमा करेंगे और जब यह आरडी परिपक्व हो जाएगी तो बैंक आपके खाते में जमा किए गए मूलधन (principal) + ब्याज (interest) को क्रेडिट करेगा।  आपके आरडी पर मिलने वाले ब्याज की गणना एक स्थाई सूत्र की द्वारा Microsoft एक्सेल में भी कर सकते हैं।

आपके आवर्ती जमा पर ब्याज की गणना करने के लिए एक निश्चित सूत्र है। यह रहा:

A = P * ( 1 + ( r/n ) )^nt

यहाँ पर,

• A = अंतिम राशि (final amount)

• P = मूल राशि (प्रारंभिक निवेश), principal amount (initial investment)

• r = वार्षिक नाममात्र ब्याज दर (दशमलव के रूप में, प्रतिशत में नहीं) annual nominal interest rate

• n = प्रति वर्ष ब्याज की संख्या कम है number of times the interest is compounded per year

• t = वर्षों की संख्या number of years

अब इसे उदहारण से समझते है –

मान लीजिये मिलने वाले ब्याज प्रतिशत है  : 7% और हर महीने जमा राशि होगी 1000 रुपये

महीना 1: रुपये 1000

महीना 1 के बाद: रुपये 1000 + (0.07 * 1000) * 30/365 = रुपये 1005.75

महीना 2: रुपये 1000 जमा किया गया।

महीने 2 के बाद: रुपये 1005.75 + 1000 + (0.07 * 2005.75) * 30/365 = रुपये 2017.29

महीना 3: रुपये 1000 जोड़ा गया।

3 महीने के बाद: रुपये 2017.29 + 1000 + (0.07 * 3017.29) * 30/365 = रुपये 3034.65

महीना 4: रुपये 1000 जोड़ा गया।

4 महीने के बाद: रुपये 3034.65 + 1000 + (0.07 * 4034.65) * 30/365 = रुपये 4057.86

महीना 5: रुपये 1000 जोड़ा गया।

5 महीने के बाद: रुपये 4057.86 + 1000 + (0.07 * 5057.86) * 30/365 = रुपये 5086.97

महीना 6: रुपये 1000 जोड़ा गया।

6 महीने के बाद: रुपये 5086.97 + 1000 + (0.07 * 5086.97) * 30/365 = रुपये 6122

मतलब, कुल राशि के 6000 जमा करने पर, 6 महीने के बाद आर डी में रुपये 6122 (लगभग) प्राप्त कर सकते है|

नोट: वास्तविक रिटर्न थोड़ा अधिक होगा (शायद रुपये 4 या 5 अधिक, क्योंकि हमने आसान गणना के लिए सभी महीनों में 30 दिन लिए हैं)।

आरडी में, FD पर एकमात्र लाभ यह है कि धन हर महीने एक निश्चित तारीख को स्वचालित रूप से काटा जाता है, इस प्रकार आपको हर महीने इसमें पैसा लगाने की याद नहीं होती है।

हम पढ़ रहे है – Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde

रेकरिंग डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स 2021

Recurring Deposit Interest Rates Comparison –  आखरी अपडेट 29 Apr 2021 को

Bank

बैंक्स

RD Interest Rates (General Public)

आम नागरिक RD रेट्स

Senior Citizen RD Rates

वरिष्ठ नागरिक RD रेट्स

HDFC RD Interest Rtaes 6.30% p.a. 6.80% p.a.
ICICI RD Interest Rates 6.20% – 6.40% p.a. 6.70% – 6.90% p.a.
SBI RD Interest Rates 6.00% p.a. 6.50% p.a.
Allahabad Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.45% p.a. 6.25% – 6.45% p.a.
Andhra Bank RD Interest Rates 6.00% – 6.10% p.a. 6.50% – 6.60% p.a.
Axis Bank RD Interest Rates 6.40% – 6.50% p.a. 7.05% – 7.15% p.a.
Bandhan Bank RD Interest Rates 6.50% – 6.75% p.a. 7.25% – 7.50% p.a.
Bank of Baroda RD Interest Rates 6.00% – 6.25% p.a. 6.50% – 6.75% p.a.
Bank of India RD Interest Rates 6.25% – 6.30% p.a. 6.75% – 6.80% p.a.
Bank of Maharashtra RD Interest Rates 5.50% – 6.00% p.a. 6.00% – 6.50% p.a.
Canara Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.30% p.a. 6.66% – 6.98% p.a.
Central Bank of India RD Interest Rates 6.20% p.a. NA
CitiBank RD Interest Rates 4.75% – 5.00% p.a. 5.25% – 5.75% p.a.
City Union Bank RD Interest Rates 6.30% – 6.60% p.a. 6.55% – 7.10% p.a.
Corporation Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.40% p.a. 6.75% – 6.90% p.a.
DBS Bank RD Interest Rates 6.25 – 6.50% p.a. 6.25 -6.50% p.a.
Deutsche Bank RD Interest Rates 5.50% – 7.75% p.a. 5.50% – 7.75% p.a.
Dhanalakshmi Bank RD Interest Rates 6.50% – 6.90% p.a. 7.00% – 7.40% p.a.
Federal Bank RD Interest Rates 6.30% – 6.40% p.a. 6.80% – 6.90% p.a.
IDBI Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.30% p.a. 6.75% – 6.80% p.a.
Indian Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.30% p.a. 6.75% – 6.80% p.a.
Indian Overseas Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.35% p.a. 6.75% – 6.85% p.a.
IndusInd Bank RD Interest Rates 6.65% – 6.75% p.a. 7.15% – 7.25% p.a.
Jammu and Kashmir Bank RD Interest Rates 6.00% – 6.30% p.a. 6.50% – 6.80% p.a.
Karnataka Bank RD Interest Rates 6.30% – 6.50% p.a. 6.70% – 6.90% p.a.
Karur Vysya Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.30% p.a. 6.75% – 6.80% p.a.
Kotak Mahindra Bank RD Interest Rates 6.00% – 6.20% p.a. 6.50% – 6.70% p.a.
Lakshmi Vilas Bank RD Interest Rates 7.25% – 7.50% p.a. 7.85% – 8.40% p.a.
Oriental Bank of Commerce RD Interest Rates 6.25% p.a. 6.25% p.a.
Post Office RD Rate 7.20% p.a. 7.20% p.a.
Punjab and Sind Bank RD Interest Rates 6.15% – 6.20% p.a. 6.65% – 6.70% p.a.
Punjab National Bank RD Interest Rates 6.05% p.a. 6.55% p.a.
Saraswat Bank RD Interest Rates 6.50% – 7.25% p.a. 6.50% – 7.50% p.a.
South Indian Bank RD Interest Rates 6.50% -6.70% p.a. 7% – 7.20% p.a.
Syndicate Bank RD Interest Rates 6.25% – 6.30% p.a. 6.75% – 6.80% p.a.
TMB RD Interest Rates 6.60% – 6.75% p.a. 7.10% – 7.25% p.a.
UCO Bank RD Interest Rates 6.15% – 6.20% p.a. 6.45% – 6.70% p.a.
Union Bank of India RD Interest Rates 6.10% – 6.25% p.a. NA
United Bank of India RD Interest Rates 6% – 6.50% p.a. 6.50% – 7.00% p.a.
Yes Bank RD Interest Rates 7.25% – 7.50% p.a. 7.75% – 8.00% p.a.

आरडी जमा खाता खोलने की प्रक्रिया?

RD deposit account opening process – किसी भी बैंक या डाकघर में आवर्ती जमा खाता खोलने से पहले, जमाकर्ता को उन बातो का विशेष ध्यान रखना चाहिए जो यह निर्धारित करेंगे कि उसे निवेश पर अच्छा रिटर्न मिलता है या नहीं। मूल्यांकन किए जाने वाले कारकों में ब्याज दर की पेशकश, बैंक या डाकघर का सहयोग जिसमें पैसा लगाया गया है|ऑनलाइन जमा सुविधा है या न है, आदि शामिल हैं।

RD अकाउंट खोलने के लिए, निम्नलिखित चरणों (steps) का पालन करना चाहिए :

  1. Depositor (जमाकर्ता) को बैंक या डाकघर का चयन करना होगा जिसमें वह recurring deposit account (आवर्ती जमा खाता) open करेंगे।
  2. इसके बाद, Depositor (जमाकर्ता) को उस अवधि का चयन करना होगा, जिसमें वह आवर्ती जमा खाते में धनराशि जमा कर रहा है। recurring deposit account (आवर्ती जमा खाते) की अवधि 6 महीने से 10 वर्ष तक की होती है।
  3. इसके बाद, जमाकर्ता को संबंधित दस्तावेजों को बैंक या डाकघर में जमा करना होगा जिसमें वह आवर्ती जमा खाता (RD Account) खोल रहा है। RD अकाउंट में पैसा निवेश करने के बारे में एक जानने योग्य बात यह है कि राशि परिपक्व होने के बाद भी अगर जमाकर्ता परिपक्व राशी को बाहर नहीं निकालता है, फिर भी यह 5 साल की अवधि के लिए ब्याज अर्जित करना जारी रखता है। आवर्ती जमा खाते पर अर्जित ब्याज की गणना आम तौर पर तिमाही आधार पर की जाती है।
  4. Recurring Deposit Account (आवर्ती जमा खाता) खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज PAN Card (पैन कार्ड) कॉपी, आवेदक की पासपोर्ट फोटो और खाता खोलने के लिए आवश्यक आवेदन पत्र (application फॉर्म) है।

किसी भी बैंक में RD के लिए आवेदन करने से पहले, सभी बैंकों की RD ब्याज दरों की जांच और उसकी तुलना (comparison) करना जरुरी है|

आरडी जमा खाता खोलने के फायदे और कमियाँ

Advantages and drawbacks of opening RD deposit account – जैसा कि किसी भी निवेश के मामले में होता है, भारत में आवर्ती जमा खाते में धन निवेश करने के लाभ और कमियां दोनों हैं। वो हैं:

Advantages (लाभ)

  1. यह उन लोगों के लिए एक सुरक्षित निवेश है जो जमा किए गए धन पर सुनिश्चित रिटर्न चाहते हैं और अपने पैसे को म्यूचुअल फंड या किसी अन्य उच्च जोखिम वाले निवेश विकल्पों में निवेश नहीं करना चाहते हैं।
  2. आवर्ती जमा खाता खोलने के लिए जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि रु 10 है।
  3. आवर्ती जमा खाता बचत खाते की तुलना में अधिक ब्याज दर प्रदान करता है।
  4. आवर्ती जमा खाते में जमाकर्ता जमा की राशि के विरुद्ध में ऋण ले सकता है। 90% तक जमा राशि के विरुद्ध ऋण राशि का लाभ उठाया जा सकता है।
  5. ब्याज के रूप में अर्जित आय से कोई टीडीएस नहीं काटा जाता है।

Drawbacks (कमियां)

आवर्ती जमा खाते में पैसा लगाने की कुछ कमियां हैं। वो हैं:

  1. जमाकर्ता को आवर्ती जमा खाते के माध्यम से अर्जित ब्याज पर टीडीएस का भुगतान नहीं करने के बावजूद उस पर कर का भुगतान करना होता है।
  2. यदि आवर्ती जमा खाते से धन निकालने के लिए जमाकर्ता की तत्काल आवश्यकता है, तो ऐसा करने के लिए कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है।

कोई भी वेतनभोगी कर्मचारी जिसने आवर्ती जमा खाते में धन का निवेश किया है, वह इसे घोषित कर सकता है ताकि वह उसी के लिए कर का भुगतान करने पर धन बचा सके। आवर्ती जमा एक व्यक्ति के लिए एक सरल, आवधिक और सुरक्षित निवेश है जो कि रिटर्न की सभ्य दर के साथ करता है।

हम पढ़ रहे है – Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde,

पात्रता मानदंड

Eligibility Criteria – निम्न पात्रता मानदंड है आरडी के लिए –

  • कोई भी व्यक्ति।
  • 10 वर्ष से अधिक आयु का कोई भी नाबालिग अगर नाम का प्रमाण प्रदान करता है, तो वह आवर्ती जमा खाता खोलने के लिए पात्र है।
  • कोई भी नाबालिग जो प्राकृतिक या कानूनी अभिभावक की संरक्षकता के तहत 10 वर्ष से कम उम्र के या उससे कम है।
  • कोई भी कॉर्पोरेट, कंपनी, प्रोपराइटरशिप या वाणिज्यिक संगठन।
  • कोई भी सरकारी संगठन।

आवश्यक दस्तावेज

Important Required Documents – निम्न दस्तावेज़ जरूरी  है आरडी के लिए –

  • आवेदन पत्र (application फॉर्म ) आप बैंक से प्राप्त कर सकते हैं, जिसमे आप RD अकाउंट खोलना चाहते है|
  • आवेदक के पासपोर्ट आकार के फोटो।
  • आवर्ती जमा खाता खोलने के इच्छुक आवेदक का पहचान प्रमाण और पता प्रमाण।
  • यदि बैंक इसके लिए अनुरोध करता है तो केवाईसी दस्तावेज।

आवर्ती जमा की समयपूर्व निकासी

Premature withdrawal of recurring deposits – निम्न बातों का ध्रयान खना जरूरी है अगर आप समयपूर्व अपने धन की निकासी करना चाहते है-

  • यदि खाताधारक अपनी परिपक्वता से पहले जमा की गई राशि को निकाल लेता है, तो उसे मिलने वाली ब्याज की दर उस अवधि के लिए लागू होगी, जिसके लिए बैंक में जमा राशि बनी हुई है। समय से पहले निकासी के लिए बैंक द्वारा 1% जुर्माना भी लगाया जाएगा।
  • बैंकों द्वारा दी जाने वाली ब्याज दर बैंक की शर्तों के अनुसार अलग-अलग होती है।
  • हालांकि, समय से पहले निकासी के मामले में कुछ बैंक ब्याज दर में 1% से 2% की कटौती करेंगे जिस समय के दौरान पैसा बैंक में जमा रहा |
  • आमतौर पर, आरडी खाते के लिए न्यूनतम लॉक-इन अवधि 3 महीने है। यदि इस अवधि से पहले समय से पहले निकासी की जाती है, तो खाताधारक शून्य ब्याज अर्जित करेगा और केवल मूल राशि जो जमा की गई थी, उसे बैंक द्वारा उसे वापस कर दिया जाएगा।
  • ब्याज पर जुर्माने के अलावा, जमाकर्ता आवर्ती जमा पर बैंक द्वारा दिए गए इंसेंटिवस के लिए पात्र नहीं है।

आवर्ती जमा की आंशिक निकासी

Partial Withdrawal Of Recurring Deposit – निम्न बातों का ध्रयान रखना जरूरी है अगर आप आंशिक रूप से अपने धन की निकासी करना चाहते है-

  • बैंकों द्वारा आरडी की आंशिक निकासी की अनुमति नहीं है। जबकि अधिकांश बैंक आंशिक निकासी की अनुमति नहीं देते हैं, कुछ बैंक ऋण या ओवरड्राफ्ट सुविधा के रूप में एक विकल्प प्रदान करते हैं जो आरडी खाते में शेष राशि को कोलैटरल रूप में गिरवी रखकर उपलब्ध कराया जाता है।
  • इसके अलावा, समय से पहले निकासी पर 1% जुर्माना लगाया जाता है, उस अवधि के लिए जिसके दौरान बैंक के पास जमा रहता है।
  • समय से पहले बंद RD बंद करने की अनुमति है लेकिन कुछ दंड के साथ। जबकि कोई भी बैंक आपको आंशिक निकासी करने की अनुमति नहीं देता है, आप ऐसा कर सकते हैं यदि आपके पास पोस्ट ऑफिस के साथ कम से कम एक वर्ष के लिए आवर्ती जमा है। वास्तव में, निकाली गई राशि को एक ऋण माना जाता है, जिसे आप एकमुश्त के रूप में चुका सकते हैं।
  • आप समय से पहले निकासी कर सकते हैं, लेकिन भुगतान किया गया ब्याज जमा अवधि के लिए आधार दर से कम होगा। कुछ बैंक जमा को दंडात्मक ब्याज (1-2 प्रतिशत) के अधीन कर सकते हैं।
  • आवर्ती जमा खाते में एक महीने की लॉक-इन अवधि होती है। एक महीने से कम समय में बंद होने से ब्याज नहीं मिलेगा। केवल मूलधन राशि वापस की जाएगी।

हम पढ़ रहे है – Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde.

आवर्ती जमा में निवेश के लाभ

Benefits of investing in Recurring Deposit – आवर्ती जमा खाते में पैसा निवेश करना एक समझदारी वाला फैसला निवेश है क्योंकि निवेश की गई मूल राशि को रिटर्न देने के लिए लगभग गारंटी दी जाती है। इस पर दी जाने वाली रिटर्न की दर भी आकर्षक है। यह सब आवर्ती जमा को एक स्मार्ट निवेश विकल्प बनाता है।आवर्ती जमा खाते में पैसा लगाने के कुछ अन्य लाभ हैं:

  • निवेश करने के लिए एक साधारण वित्तीय उत्पाद: एक आवर्ती जमा दुनिया में निवेश करने के लिए दुनिया के सबसे सरल वित्तीय उत्पादों में से एक है। इसमें पैसा लगाने की अवधारणा बहुत सरल है। किसी भी व्यक्ति के लिए जो वित्तीय निवेश की दुनिया में नया है, विशेषज्ञ हमेशा व्यक्ति को अपने पैसे को आवर्ती जमा खाते में निवेश करने की सलाह देते हैं। आवर्ती जमा में प्रारंभिक निवेश भी व्यक्ति के लिए निवेश की अच्छी आदतें विकसित करता है।
  • गारंटीड रिटर्न: इक्विटी और म्यूचुअल फंड के विपरीत, आवर्ती जमा अल्पावधि में निवेश की गई मूल राशि पर गारंटीकृत रिटर्न प्रदान करते हैं।
  • कार्यकाल और जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि: आवर्ती जमा खाते का कार्यकाल आमतौर पर 6 महीने से 10 साल तक होता है। जमाकर्ता आवर्ती जमा खाते में निवेश के लिए अल्पकालिक, मध्यम अवधि या दीर्घकालिक अवधि का चयन कर सकता है। आरडी खाता खोलने के लिए जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के लिए रु 100 है और निजी क्षेत्र के बैंकों जैसे आईसीआईसीआई या एचडीएफसी बैंक के लिए रु 500 से रु 1000 तक भिन्न होती है, जो कि जमा करने के लिए एक बड़ी राशि नहीं है।
  • कभी भी निकासी: आवर्ती जमा खाते, कभी भी खाते से निकासी की सुविधा प्रदान करते हैं। बैंक इसके लिए एक छोटा सा शुल्क ले सकता है।
  • जमा के विरुद्ध ऋण: बैंक आवर्ती जमा के विरुद्ध ऋण की सुविधा भी प्रदान करते हैं। एक जमाकर्ता बैंक के आधार पर आवर्ती जमा खाते में जमा कुल धन का 90-95% के बराबर ऋण राशि का लाभ उठा सकता है।
  • फ्लेक्सी रेकरिंग डिपाजिट: आवर्ती जमा खाते में पैसा लगाने का एक और फायदा लचीलापन है। लचीली आवर्ती जमा एक ऐसी योजना है जिसमें व्यक्ति समय के किसी भी अंतराल पर किसी भी राशि (न्यूनतम राशि से अधिक) का निवेश कर सकता है। कुछ बैंक जमाकर्ताओं को बिना किसी दंड का भुगतान किए एक किस्त छोड़ने की सुविधा भी देते हैं

वरिष्ठ नागरिक आवर्ती जमा

Senior Citizen Recurring Deposits – आवर्ती जमा खाता एक व्यक्ति को पूर्व-परिभाषित अवधि के लिए हर महीने निश्चित राशि जमा करने में सक्षम बनाता है जो फिक्स्ड डिपॉजिट्स (एफडी) के समान ब्याज अर्जित करता है। आरडी का लाभ वरिष्ठ नागरिक भी उठा सकते हैं। वरिष्ठ नागरिकों के जमा के लिए ब्याज दरें नियमित खाते की तुलना में अधिक हैं। इसके लिए बैंक द्वारा न्यूनतम राशि और कार्यकाल तय किया जाता  है। आरडी पर ब्याज तिमाही आधार पर चक्रवृद्धि है। अधिकांश बैंक नियमित आवर्ती जमा की तुलना में वरिष्ठ नागरिकों को 0.25% से 0.75% की अतिरिक्त ब्याज दर प्रदान करते हैं।

हम पढ़ रहे है – Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde.

फ्लेक्सी आरडी प्रदान करने वाले बैंक

Banks Providing Flexi RD – फ्लेक्सी रिकरिंग डिपॉजिट स्कीम एक प्रकार की रिकरिंग डिपॉजिट हैं जो जमाकर्ता को उसकी सुविधा के आधार पर एक लचीली रकम का निवेश करने की अनुमति देती हैं। वे जमाकर्ता को मूल निवेश राशि के साथ-साथ कोर किस्त राशि के मल्टीप्ल में फ्लेक्सी किश्तों का चयन करने की अनुमति देते हैं। उदाहरण के लिए, यदि जमाकर्ता रु 500 का चयन करता है, तो वह 500 मूल राशि या 500 के मल्टीप्ल के रूप में (जैसे 500×1 या 500xN , जहाँ N कोई भी संख्या हो सकती है) अगली किश्त जमा कर सकता है |

यह योजना जमाकर्ताओं को एक विकल्प प्रदान करती है कि वे स्थिर ब्याज दर को बनाए रखते हुए हर महीने अपने साधनों के आधार पर कितना निवेश करें। मूल राशि के लिए देय ब्याज दर तय की गई है, जबकि मूल गुणक राशि पर ब्याज की गणना निवेश की अवधि के आधार पर की जाएगी। कई बैंक हैं जो अलग-अलग कार्यकाल और शर्तों के साथ फ्लेक्सी आवर्ती जमा योजनाओं की पेशकश करते हैं।

इस पोस्ट में हमने ये समझा की की recurring deposit या RD  क्या है (Recurring Deposit (RD) Kya Hai, RD Ke Fayde.) कैसे ये आपके धन को सुरक्षित रूप से बढ़ाने में मदद करता है| अगली पोस्ट में हम क्रम में अगले निवेश के तरीके, Public Provident Fund (PPF) Kya Hai? पीपीएफ क्या है? ये समझेंगे| तो बने रहिये हमारे साथ apneebachat.com में |

You may also like

Leave a Comment