Loan kya hai, Loans kitne type ke hote hai?

by admin
Loan kya hai, kitne type ke hote hai?

Loan kya hai, Loans kitne type ke hote hai?

लोन क्या है?

लोन एकमुश्त धन है जिसे आप एक बार में या समय के साथ, आमतौर पर ब्याज के साथ वापस भुगतान करने की उम्मीद के साथ उधार लेते हैं। ऋण आमतौर पर एक निश्चित राशि होती है, जैसे 2 लाख या 10 लाख।

अब समझते है की लोन के मुख्य कितने कॉम्पोनेन्ट (घटक) होते है – किसी लोन के तीन घटक होते हैं –

  1. मूलधन या उधार ली गई राशि (प्रिंसिपल अमाउंट)
  2. ब्याज दर और  (इंटरेस्ट रेट)
  3. कार्यकाल या अवधि जिसके लिए ऋण लिया जाता है।  (टेन्योर)

लोन किसी भी बैंक या NBFC (गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी) के प्राथमिक वित्तीय उत्पादों में से एक है| लोन का अमाउंट और ब्याज दर आपकी आय, ऋण, क्रेडिट हिस्ट्री और कुछ अन्य कारकों के आधार पर तय होते है और ये प्रत्येक के लिए भिन्न भिन्न हो सकते है|

हम पढ़ रहे है – Loan kya hai, kitne type ke hote hai?

लोन केटेगरी?

सीक्योर्ड लोन – सीक्योर्ड लोन वे लोन होते हैं जो लोन के लिए संपत्ति पर निर्भर होते हैं कोलेटरल के रूप में। ऋण चूक की स्थिति में, ऋणदाता परिसंपत्ति पर कब्जा कर सकता है और इसका उपयोग लोन को कवर करने के लिए कर सकता है। सीक्योर्ड लोन के लिए ब्याज दरें अन-सीक्योर्ड लोन की तुलना में कम हो सकती हैं। 

अन-सीक्योर्ड – अन-सीक्योर्ड लोन के लिए संपत्ति की आवश्यकता नहीं होती है इन लोन्स की ब्याज दरे ज्यादा हो सकती है। अन-सीक्योर्ड लोन आपके क्रेडिट हिस्ट्री और आपकी आय पर निर्भर करता है जो आपको ऋण के लिए योग्य बनाता है। यदि आपसे अन-सीक्योर्ड लोन भरने में चूक होती हैं, तो ऋणदाता को ऋण संग्राहकों सहित संग्रह विकल्पों को समाप्त करने का हक होता है, और वो ऋण की वसूली के लिए मुकदमा भी कर सकता है।

ऋण के प्रकार

लोगों को मिलने वाले ऋण के सामान्य प्रकार हैं:

  • गृह ऋण
  • कार ऋण
  • शिक्षा ऋण
  • व्यक्तिगत ऋण
  • व्यवसाय ऋण
  • गोल्ड लोन   

हम पढ़ रहे है – Loan kya hai, kitne type ke hote hai?

लोन की महत्वपूर्ण जानने योग्य बातें       

  • आय: लोन देने वालो के लिए मुख्य चुनौती आपकी रि-पेमेंट करने की क्षमता है। इसलिए, बैंक की आय का प्रमाण को पूरा करना ऋण आवेदक के लिए सबसे महत्वपूर्ण मापदंड है। अधिक आय, लंबे कार्यकाल के लिए बड़े लोन के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया को आसान बनाता है।
  • आयु: जिस व्यक्ति की नौकरी/बिज़नेस के अधिक वर्ष बचे होंगे उन्हें सेवानिवृत्ति के करीब या फ्रेशर की तुलना में लॉन्ग टर्म लोन एप्रूव्ड होने की अधिक संभावना होती है।
  • डाउन पेमेंट: यह उस भुगतान के लिए लोन आवेदक का हिस्सा है जिसके लिए उसे ऋण की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए, यदि आप 1 करोड़ की लागत वाला घर खरीदने की योजना बना रहे हैं, और बैंक आपको 80 लाख रुपये का ऋण देने के लिए सहमत है। तो शेष राशि रु 20 लाख आपकी डाउन पेमेंट होगी|
  • कार्यकाल: यह ऋणदाता को चुकाने के लिए आवंटित समय है। यदि आप ईएमआई चुकाने में विफल रहते हैं, तो बैंक आपसे जुर्माना वसूल सकता है या आपकी संपत्ति भी जब्त कर सकता है।
  • ब्याज: यह उधारकर्ता से ऋणदाता द्वारा वसूल की गई राशि है। ब्याज दरें लोन पर और कभी-कभी व्यक्ति से उनके क्रेडिट स्कोर के आधार पर भी भिन्न हो सकती हैं। आप निश्चित ब्याज दर (पूरे कार्यकाल के दौरान) या फ्लोटिंग रेट (बाजार के अनुसार परिवर्तन) का विकल्प चुन सकते हैं।
  • समान मासिक किस्तों (EMI): यह उधारकर्ता से ऋणदाता को दिए गए ऋण का मासिक पुनर्भुगतान है। ईएमआई में उधार लिया गया मूलधन / ब्याज शामिल होता है।

ऋण की विशेषताएं और लाभ

  1. फाइनेंसियल फ्लेक्सिबिलिटी (वित्तीय लचीलापन): ऋण आपको वित्तीय आवश्यकता या जीवन में आपके द्वारा खर्च किए गए खर्चों को पूरा करने की अनुमति देता है। ऋण लेने से आपको कुछ हद तक वित्तीय स्वतंत्रता मिलती है क्योंकि यह आपको बड़े भुगतान करने या अपने नियोजित बजट को परेशान किए बिना एक समय के खर्च का ध्यान रखने के लिए सुसज्जित करता है।
  2. आसान उपलब्धता: लगभग सभी प्रकार के लोन अधिकतम 48 घंटो की दौरान आपकी इनकम हिस्ट्री और कई मामलो में  आपके कोलेटरल को ध्यान में रख कर एप्रूव्ड हो जाते है|
  3. आवश्यक राशि प्राप्त करें: आपकी आय और इनकम हिस्ट्री के आधार पर, आपको आवश्यक राशि डीसबर्स करा दी जाती है|
  4. सुविधाजनक कार्यकाल: लोन की अवधि और राशि बैंक द्वारा तय की जाती है और ये ग्राहक को ध्यान में रख कर बनाये जाते है जिससे ये काफी फ्लेक्सिबल (लचीले) होते है। लोन आम तौर पर 12 महीने से 60 महीने या उससे अधिक के कार्यकाल के लिए उपलब्ध कराये जाते हैं।
  5. कर लाभ: 1961 के आयकर अधिनियम के अनुसार, कुछ प्रकार के लोन टैक्स बेनिफिट (कर लाभ) प्रदान करते हैं जिसका आप लाभ उठा सकते हैं। 

हम पढ़ रहे है – Loan kya hai, kitne type ke hote hai?

लोन क्यों लेना है?

  • जीवन के महत्वपूर्ण लक्ष्यों को पूरा करने के लिए: जब आप अपने जीवन के लक्ष्यों को वास्तविक बनाने के लिए वित्तीय सहायता चाहते हैं तब आप लोन के बारे में सोच सकते है, और अपने फाइनेंसियल दशा की समीक्षा कर लोन ले सकते है, ये लक्ष्य एक घर, कार या उच्च शिक्षा हो सकते है।
  • तत्काल वित्तीय आवश्यकताएं: वित्तीय आपातकाल होने पर आप ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • अप्रत्याशित खर्चों के लिए वित्तीय व्यवस्था करने के लिए: यदि आप एक अप्रत्याशित स्थिति में हैं, जहां आपके उन्हें हल करने और पार पाना के लिए लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं|

ऋण के लिए आवेदन करने से पहले विचार करने वाले पाइंट्स

ऋण लेना एक बड़ा वित्तीय निर्णय है जिसके लिए आपको सूचित विकल्प बनाने की आवश्यकता होती है। यहाँ कुछ हैं:

  1. क्रेडिट स्कोर: ऋण के लिए आवेदन करने से पहले आपको अपने क्रेडिट हिस्ट्री की जांच करनी होगी। क्रेडिट हिस्ट्री आपके पिछले लोन्स और रीपेमेंट का एक रिकॉर्ड होता है (यदि कोई है तो)। यह बताएगा कि क्या आप किसी भुगतान के लिए ज़िम्मेदार हैं या नही। 750 और उससे अधिक का क्रेडिट स्कोर बढ़िया माना जाता है।
  2. ब्याज दर: वास्तव में लोन के लिए आवेदन करने से पहले लोन की ब्याज दर अच्छे से जाँच लेंवे। जिन ऋणों के लिए आम तौर पर कोलेटरल की आवश्यकता होती है, उन लोन्स की ब्याज दर उन लोन्स से कम होती है जिनमे कोलेटरल की आवश्यकता नही होती है (ऐसे लोन्स को हम अन-सीक्योर्ड लोन्स बोलते है)।
  3. प्रोसेसिंग शुल्क और अन्य शुल्क: जब आप ऋण के लिए आवेदन करते हैं तो आपको प्रोसेसिंग शुल्क और अन्य शुल्क के बारे में भी अच्छे से जाँच पड़ताल कर लेनी चाहिए क्यूंकि कई बार लोन एजेंट्स आपको शुरुवात में इसके बारे में नही बताते लेकिन जैसे ही आप लोन के लिए अपने डिटेल्स और डाक्यूमेंट्स देते है उसके बाद आपको पता चले की हमे ये अतिरिक्त चार्जेज और देना है तो कई बार एकदम से असहजता हो जाती है।
  4. अपने ऋण के लिए अच्छे इंटरेस्ट रेट प्राप्त करने के लिए रिसर्च: विभिन्न बैंकों और NBFC के बीच अच्छी ब्याज दर, EMI, कार्यकाल और अन्य शुल्क को लेकर तुलना करे, और उसी को फाइनल करे जिसके ये सभी कारक आपके लिए सही और सुविधाजनक हो। आजकल ये कम्पेरिजन करना बहुत करना बहुत ही सरल हो गया है, आज मार्किट में बहुत सी वेबसाइट है जो आपके लिए ये कम्पेरिजन बहुत जल्दी से कर देते है|

हम पढ़ रहे है – Loan kya hai, kitne type ke hote hai?

आज की पोस्ट में इतना ही, वैसे तो लोन के बारे में जानने योग्य और बहुत सी बातें है, जैसे – किन डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होती है लोन अप्लाई करने क लिए, लोन्स के दुसरे डिटेल्स जिन्हें हम आगे की पोस्ट्स में देखेंगे|

Further Reading – Home Loan Kya Hai, types and benefits

You may also like

Leave a Comment