Health Insurance Plan kitne type ke hote hai?

by team apneebachat
Health Insurance Plan kitne type ke hote hai?

Health Insurance Plan kitne type ke hote hai? हेल्थ इंश्युरंस मुख्यतः दो प्रकार के होते है Individual और Family Floater

Health Plan Types

हेल्थ इंश्युरंस की पिछली पोस्ट्स में हमने देखा की हेल्थ इंश्युरंस होना क्यों जरूरी है, क्लेम रेश्यो क्या होता है, और क्लेम रेश्यो क्यों इतना महत्वपूर्ण होता है, हेल्थ इंश्युरंस क्लेम्स कितने टाइप के होते है, हेल्थ इंश्युरंस क्लेम सेटलमेंट कैसे करे| आज हम हेल्थ इंश्युरंस प्लान्स क्या होते है और कितने प्रकार के होते है इस पर बात करेंगे –

हेल्थ के लिए कोई भी पॉलिसी खरीदना ठीक नहीं होता। जरूरी यह है कि उसके बारे में पूरी जानकारी ली जाए। यदि आप परिवार के सभी सदस्यों को एक पॉलिसी में कवर करते हैं तो यह आप सभी के लिए बहुत फायदेमंद है।

ज्यादातर परिवारों के सदस्य स्वयं का हेल्थ प्लान लेकर रखते हैं, जिसे Individual Health Plan ‘इंडिविजुअल हेल्थ प्लान’ कहते हैं। यदि कोई व्यक्ति पूरे परिवार के लिए स्वास्थ्य बीमा खरीदना चाहता है, तो उसे Family Floater Plan ‘फैमिली फ्लोटर प्लान’ का विकल्प चुनना चाहिए।

कई बार हमें Individual और Family Floater Plan के बीच चुनाव करना मुश्किल हो जाता है। इसलिए हम आपको इनके बीच का अंतर बता रहे हैं-

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा योजना

Individual Health Insurance Plan  – परिवार के प्रत्येक व्यक्ति के नाम पर अलग-अलग लिया जाता है। इसमें प्रत्येक व्यक्ति की आयु और बीमा राशि के अनुसार प्रीमियम तय होती है। इस प्लान की एक ही खासियत है कि परिवार के एक से अधिक सदस्यों का बीमा साथ में कराया जाए तो बीमा कंपनी कुल प्रीमियम पर 10 फीसदी छूट देती है।

आप पढ़ रहे है – Health Insurance Plan kitne type ke hote hai?

 फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा योजना

Family Floater Health Insurance Plan – इसमें एक ही प्लान में परिवार के सभी सदस्य कवर हो जाते हैं। साथ ही सभी की प्रीमियम भी एक ही आती है।

उदाहरण के लिए इसे यूं समझते हैं कि किसी परिवार में चार सदस्य हैं। आप सभी के लिए दो-दो लाख रु. का इंडिविजुअल प्लान लेते हैं। इसमें प्रत्येक को दो लाख रुपए का ही कवर मिलेगा। इसके विपरीत आप 8 लाख रुपए का ‘फैमिली फ्लोटर’ प्लान खरीदते हैं तो सभी को दो के बजाय 8 लाख रु. का कवर मिलेगा। यह जरूरी नहीं कि सभी सदस्य एक ही समय अस्वस्थ हो जाएं।

किसी सदस्य की बीमारी पर अचानक 5 से 7 लाख रु. का खर्च करना पड़े तो फैमिली प्लोटर आपको आर्थिक परेशानी से बचा लेगा। यह प्लान बनाने के पीछे कंपनियों की अवधारणा यही है कि परिवार के सदस्यों के एक साथ बीमार पड़ने की आशंका नहीं के बराबर होती है।

वैसे Individual (इंडिविजुअल) और Family Floater (फैमिली फ्लोटर) ‘इनडेमनिटी’ प्लान हैं। इसका मतलब है कि अस्पताल में भर्ती होने के दौरान हुआ खर्च आपको वापस मिलता है।

Indemnity Plan (इनडेमनिटी’ प्लान) –  Indemnity Plan, हानि से सुरक्षा प्रदान करने वाले स्वास्थ्य बीमा योजना है, जहां स्वास्थ्य बीमा कंपनी अस्पताल में भर्ती होने के दौरान होने  वाले खर्चो की वास्तविक राशि का reimbursement (प्रतिपूर्ति) करती है।

दो गुना लाभ है फैमिली फ्लोटर प्लान में

अगर कोई व्यक्ति 30 से 35 वर्ष का है तो 10% छूट के बाद उसके 5 लाख रुपए के इंडिविजुअल हेल्थ प्लान में लगभग 12,497 रुपए प्रीमियम आएगा। इतनी ही बीमा राशि वाले फैमिली फ्लोटर प्लान में प्रीमियम करीब 10,416 रुपए होता है। इस तरह आपको 20% लाभ मिलता है।

बच्चों के लिए आयु सीमा: फैमिली फ्लोटर प्लान में माता-पिता की उम्र मायने नहीं रखती, लेकिन बच्चों की उम्र रखती है। अलग-अलग प्लान में बच्चों को 18 से 25 वर्ष के बीच वयस्क माना लिया जाता है। अगर आपके बच्चे इससे छोटे हैं तो फैमिली फ्लोटर प्लान लेने में समझदारी है। यह प्लान कम लागत में बेहतर कवर के साथ ही नो क्लेम की स्थिति में बोनस जुड़ता चला जाता है।

गोल्डन-सिल्वर जैसी कई स्कीम हैं बाजार में: हेल्थ प्लान देने वाली कंपनियों ने बाजार में कई तरह की स्कीम लागू की हुई हैं। इनमें ब्रोंज, सिल्वर, गोल्ड तथा प्लेटिनम के नाम से प्लान उपलब्ध हैं। नाम से जाहिर है कि प्लेटिनम या गोल्डन में आपको अधिक सुविधाएं मिलेंगी। इसकी अधिक जानकारी आप हेल्थ कवर देने वाली कंपनी से प्राप्त करें।

आप पढ़ रहे है – Health Insurance Plan kitne type ke hote hai?

55 की उम्र के बाद महंगा पड़ता है फ्लोटर प्लान

फ्लोटर प्लान के इस भाग में हम बता रहे हैं कि यह किस आयु समूह के लिए फ्लोटर प्लान सस्ता पड़ेगा और किस आयु समूह के लिए व्यक्तिगत प्लान बेहतर रहेगा। प्लान का चुनाव आपको करना है।

परिवार में यदि सभी सदस्य युवा हैं और सभी की ‘हेल्थ रिस्क लो’ है तो उनके लिए यह बेस्ट प्लान है। इसके अलावा, परिवार में कोई नया सदस्य जुड़ता है (जैसे बच्चे का जन्म होना) तो उसे भी इस स्कीम में तुरंत शामिल किया जा सकता है। कोई विवाहित जोड़ा 30 वर्ष की आयु से कम है तो उसे फैमिली फ्लोटर प्लान को प्राथमिकता देना चाहिए। उदाहरण के लिए ये कपल पांच लाख रुपए का फैमिली प्लान लेता है तो उसकी प्रीमियम लगभग 8 से 12 हजार रुपए हो सकती है। (हम यहां अनुमानित राशि की जानकारी दे रहे हैं। अधिक जानकारी के लिए अपनी हेल्थ कंपनी से संपर्क करें)।

  • 35 वर्ष की मध्यम आयु वर्ग के लिए: एक या दो बच्चों के साथ यह प्लान बेहतरीन विकल्प है। उदाहरण के लिए- इस परिवरा को करीब 7 लाख रुपए का हेल्थकरवेज लेने पर तीन से चार सदस्यों के बीच15 से 20 हजार रुपए प्रीमियम हो सकती है, जोकि प्रति सदस्य केल्कुलेट की जाए तो बहुत कम है।
  • मध्यम-वृद्ध परिवार (35-45) : इस आयु समूह के दौरान अपनी मौजूदा योजना में गंभीर बीमारी का एक अतिरिक्त सेक्शन जोड़ना बेहतर रहेगा। क्योंकि उम्र के साथ बीमारी की रिस्क बढ़ जाती है। ऐसे में अतिरिक्त कवरेज, आपके अस्पताल में भर्ती होने की लागत को कवर करेगा। इसके लिए आपको 10 लाख रुपए वाला फैमिली प्लान लेना चाहिए जिसमें 20 से 30 हजार तक की प्रीमियम सभी रिस्क कवर करेगी।
  • बड़े और वृद्ध (45-55 वर्ष): फ्लोटर और व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा, दोनों लेना उचित रहेगा। आपकी उम्र 45 से 55 वर्ष होने को है तो आपका इंडिविजुअल प्लान गंभीर बीमारी को कवर करेगा। वहीं, फैमिलीप्लान अन्य सदस्यों को कवर देगा। जैसा कि हमने ऊपर बताया था कि फैमिली प्लान में बढ़ती आयु के सदस्यों को कंपनियां शामिलनहीं करती हैं। इसमें आपको 10 लाख वाला फ्लोटर और 5 लाख रुपए वाला इंडिविजुअ प्लान लेने पर प्रीमियम की सीमा 25 हजार से 40 हजार रुपए तक रह सकती है।
कुछ कमियां भी हैं व्यक्तिगत प्लान में
  • परिवार में सीनियर सिटीजन है तो अधिक प्रीमियम निर्धारित किया जाता है। या उनके लिए व्यक्तिगत प्लान लेना पड़ता है।
  • परिवार के सदस्यों की एक निश्चित आयु सीमा तक ही प्लान री-न्यू कराया जा सकता है। प्लान में शामिल कोई सदस्य उम्रदराज है तो बाकी सदस्यों के नाम पॉलिसी री-न्यू नहीं की जा सकती।
  • प्लान पीरियड में कोई सदस्य बीमार होकर क्लेम ले लेता है तो नो क्लेम बोनस का फायदा अन्य सदस्यों को पॉलिसी रीन्यू होने तक नहीं मिलेगा।
  • इस प्लान में माता-पिता, बच्चे (आश्रित माता-पिता हों तो वे भी) ही शामिल किए जा सकते हैं। लेकिन मदर इन लॉ या फादर इन लॉ जैसे ससुराल वाले अन्य लोगों को शामिल नहीं कर सकते। उनके लिए आपको इंडिविजुअल प्लान ही लेना पड़ेगा।

आप पढ़ रहे है – Health Insurance Plan kitne type ke hote hai?

You may also like

Leave a Comment