Steps – Health Insurance claim Settlement Kaise kare?

by team apneebachat
Health Insurance claim ka Settlement Kaise kare

Steps – How to settle Health Insurance Claim/Steps – Health Insurance claim Settlement Kaise kare??

आज, चिकित्सा उपचार में होने वाले खर्चों कि बात करे तो, एक अच्छी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी में निवेश करना अब कोई विकल्प नहीं है। बल्कि अब ये जरूरी आवश्यकता है।

किसी व्यक्ति को स्वयं और अपने सभी फॅमिली मेम्बेर्स के लिए स्वास्थ्य बीमा कवर लेना एक अच्छा डिसिशन है जिसमे कि जरुरत पड़ने पर व्यक्ति चिकित्सा में होने वाले खर्चो को ले कर बेफिक्र रहे।

यदि आपने पहले से ही एक अच्छी स्वास्थ्य बीमा योजना खरीद ली है, तो claim settlement एक ऐसा क्षेत्र है, जब आप चाहेंगे कि जरुरत पड़ने पर ये आसानी से निपट जाये।

आप पढ़ रहे है – Steps – Health Insurance claim Settlement Kaise kare?

यह ब्लॉग पोस्ट में हम आपको 5 steps कि मदद से सुविधाजनक claim settlement process के बारे में बताएँगे, जिससे भविष्य में जरुरत पड़ने पर claim settlement आपको जटिल न लगे।

Cashless Claims – Steps to Follow

यदि हम planned treatment ले कर हॉस्पिटल में admit हो रहे है तो हम कैशलेस settlement का विकल्प चुन सकते हैं। एक सुविधाजनक प्रक्रिया के लिए आपको नीचे दिए हुए आवश्यक चरणों का पालन करना होगा।

Further Reading – What is Cashless and Reimbursement Health Insurance Claims?

Step 1 Check/चेक करना: जब भी आप कैशलेस अस्पताल में भर्ती होने का विकल्प चुनते हैं, तो आपको दो महत्वपूर्ण चीजों की जांच करने की आवश्यकता होती है।

  • क्या आपकी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के नियम और शर्तों के अनुसार बीमारी को कवर किया गया है?
  • क्या अस्पताल का बीमाकर्ता के नेटवर्क में टाई-उप है इसलिए, अस्पताल में भर्ती होने से पहले आप बीमा कंपनी को फोन कॉल करके ये confirm कर सकते है।

Step 2. Intimate/परिचित कराना: जब भी आप अपनी बीमा पॉलिसी पर claim करना चाहते हैं, तो यह सबसे ज्यादा जरुरी है कि आप इसकी जानकारी आप बीमा कंपनी को दे दे और साथ साथ आप ये भी बता देवे कि आप कोनसा claim process लेना चाहेंगे – cashless या reimbursement।

अस्पताल में, प्रवेश के दौरान, आपको प्री-ऑथोराइज़ेशन फॉर्म भरने और TPA (थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेशन) काउंटर पर जमा करने के लिए कहा जाएगा। वे आगे cashless approval के लिए ये फॉर्म और विभिन्न दूसरी जानकारियाँ बीमाकर्ता को भेजेंगे।

Step 3. Document submission/डॉक्यूमेंट जमा करना: टीपीए काउंटर पर आपको अपने बीमाकर्ता द्वारा प्रदान किए गए कैशलेस हेल्थ कार्ड, पहचान के लिए कुछ KYC (केवाईसी) दस्तावेजों के साथ जमा करना होगा। वे उसी की एक copy ले सकते हैं और original document आपको वापस कर देंगे।

Step 4. Record Keeping/रिकॉर्ड रखना: एक बार बीमा प्रदाता द्वारा cashless claim का approval प्राप्त होने पर, अस्पताल में भर्ती होने से संबंधित आपके मूल दस्तावेज बीमाकर्ता द्वारा खुद के पास रख लिए जायेंगे। इसीलिए ये जरूरी है कि उन सभी documents कि एक-एक copy आप अपने पास रिकॉर्ड के लिए रख ले।

Step 5. Pre-Post Hospitalization/प्री-पोस्ट हॉस्पिटलाइज़ेशन: अपनी हेल्थ policy में प्री और पोस्ट हॉस्पिटलाइज़ेशन कवर के बारे में जाँच करें। आपको claim करने के लिए बिल और सभी संबंधित prescription/चिकित्सा रिपोर्ट को सहेज के रखना होगा। यह claim हमेशा re-imbursement के आधार पर किया जाते है। इसीलिए ये जरूरी है आप इससे संबंधित टाइमफ्रेम और policy में इसके सन्दर्भ में exactly क्या लिखा है वो जाँच लेवे।

आप पढ़ रहे है – Steps – Health Insurance claim Settlement Kaise kare?

Reimbursement Claims – Steps to Follow

कुछ schemes कैशलेस क्लेम सुविधा प्रदान नहीं करती हैं और उस केस में आपको अपने द्वारा किये गए खर्चों का reimbursement करवाना होता है। यदि आप एक नॉन-नेटवर्क अस्पताल में उपचार करवाते हैं या किसी करणवश आप कैशलेस settlement का विकल्प नही चुन पाते हैं, तो भी उस केस में reimbursement की मांग की जा सकती है। scenario जो भी हो, reimbursement settlement के मामले में निम्नलिखित चरणों का पालन किया जाना चाहिए –

Step 1: Insurance कंपनी को सूचित करें और अस्पताल से छुट्टी की तारीख से 30 दिनों के भीतर बीमाकर्ता को विधिवत भरा reimbursement claim form प्रस्तुत करें।

Step 2: चिकित्सा रिपोर्ट, दवा के बिल और अस्पताल के बिल की सभी original copies (मूल प्रतियों) को विधिवत रूप से मुहर लगाकर और settlement claim form के साथ हस्ताक्षरित करें।  अस्पताल के बिल में अस्पताल के पंजीकरण नंबर का स्पष्ट उल्लेख होना चाहिए। रिपोर्ट में hospital में admit व्यक्ति का नाम के साथ तारीख भी स्पष्ट रूप से अंकित होना चाहिए। इन सभी के साथ आपके डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन भी संलग्न होना चाहिए, जिसने अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी थी,  जिससे यह पता चल सके कि आपका अस्पताल में भर्ती होना या चल रहा medical treatment स्वैच्छिक नहीं थे, बल्कि यह आपके डॉक्टर की सलाह के अनुसार थे।

Step 3. अस्पताल से डिस्चार्ज के बाद,  hospital  (Discharge Summary/Card) डिस्चार्ज समरी/कार्ड जारी करेगा जो यह claim करता है कि आप डिस्चार्ज के time ठीक थे या डिस्चार्ज करने लायक थे। यह कार्ड आपको बीमाकर्ता को जमा करना होगा।

Step 4. आपके डॉक्टर द्वारा follow-up prescription जो अस्पताल में भर्ती होने के बाद आपकी फिटनेस को प्रदर्शित करते हैं, उसकी भी original copy देना आवश्यक है। post hospitalization खर्च के लिए, आप अपनी बीमा पॉलिसी की शर्तों के आधार पर बिल को डिस्चार्ज से 60/90120 दिनों के भीतर जमा करा सकते हैं।

Step 5. आपको भविष्य के संदर्भ के लिए सभी submitted documents की copies  अपने पास रिकॉर्ड के तौर पर अपने पास सुरक्षित रखना चाहिए। claim register होने के 2-3 सप्ताह के भीतर आपका claim settle कर दिया जाता है। आपकी स्वास्थ्य बीमा scheme तभी उपयोगी साबित होगी जब आप अपने medical खर्चों को समय पर सफलतापूर्वक claim करते है। इन steps को फॉलो करने से आपके सभी स्वास्थ्य बीमा claims का एक वैध और त्वरित निपटान सुनिश्चित होगा।

आप पढ़ रहे है – Steps – Health Insurance claim Settlement Kaise kare?

You may also like

Leave a Comment